Home > India News > एमपी में माइनिंग माफिया , एक दिन में CCF का तबादला

एमपी में माइनिंग माफिया , एक दिन में CCF का तबादला

demo pic

demo pic

बैतूल : बैतूल वन व्रत के सीसीएफ का माइनिंग माफिया की शह पर एक दिन में तबादला कर दिया गया वजह बैतूल में भाजपा विधायको के करीबियों को ज़िले में अवैध उत्खनन करने से रोकना और उनके खिलाफ कार्यवाही करना है । ऐसा पहली बार नहीं हुआ है इसके पहले भी अवैध उत्खनन कर्ताओ के विरुद्ध कार्यवाही करने पर एक ही दिन में कलेक्टर का ट्रांसफर हो चूका है ।

सितम्बर 2015 में बैतूल वन व्रत में सीसीएफ के पद पर एच यू खान की पद स्थापना हुई थी ।कुल नव महीने के कार्य काल में बैतूल ज़िले के विधायको की नारजगी कई बार बैठको और ज़िला योजना समिति में देखी गई ।मुद्दा हर बार एक ही की सारे नियम कायदे आप दफ्तर में रखो और अवैध रेत ,गिट्टी,पत्थर को मत रोको निर्माण कार्यो को होने दो हमे तो प्रोग्रेस चाहिए ।

जबकि अवैध उत्खनन के प्रकरण उन्ही के खिलाफ बने है जो उपरोक्त खनिज का धंधा कर रहे है ।लेकिन बैतूल के विधायकों ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सामने आदिवासियों पर झूठे प्रकरण बनाये जाने की बात रखते हुए श्री खान को तत्काल हटाने की वकालत कर डाली ।मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी बगैर किसी जांच पड़ताल के तुरन्त हटाने के निर्देश दे डाले ।

प्रकरण 1 बैतूल वन व्रत की दक्षिण वन मण्डल की मुलताई रेंज में रिज़र्व फारेस्ट में सदा प्रसन्न घाट को काट कर सड़क में उपयोग कर लिया गया ।सड़क बनाने वाली कम्पनी भाजपा के वरिष्ठ नेता राजा ठाकुर की है ।आर एस के कंपनी पर वन विभाग ने जुर्माना किया तो ज़रूर लेकिन वसूल नहीं पाई और ना ही अवैध उत्खनन में लगे वाहनों को राजसात किया गया ।

प्रकरण 2 बैतूल वन व्रत की दक्षिण वन मण्डल की आमला रेंज में लादी वन मार्ग में इसी वन मण्डल की भैसदेही में पदस्थ बाबू पवन सिंह ठाकुर की कंपनी ने सड़क के लिए मार्ग के दोनों तरफ अवैध उत्खनन कर 27000 घनमीटर मुरम कोपरा निकाल कर सड़क में उपयोग कर लिया ।मामला बना तो राजनैतिक दबाव भी बना दोबारा जांच बैठाई गई और 27000को घटा कर 272 घन मीटर कर दिया गया ।अवैध उतखनन में लगे वाहनों को आज तक राजसात नहीं किया गया और नहीं जुर्माना वसूला गया ।

प्रकरण 3 बैतूल वन व्रत की दक्षिण वन मण्डल की ही सावल मेंढा रेंज की सांकली बीट में भैसदेही से भाजपा के नेता प्रमोद मालवी ने प्रधानमन्त्री सड़क योजना के लिए रिज़र्व फारेस्ट में उत्खनन कर मुरम का उपयोग कर लिया ।एक प्रशिक्षु आई ऍफ़ एस ने कार्यवाही करते हुए उत्खनन में लगी जेसीबी मशीन और डम्पर जब्त कर लिए थे ।बैतूल विधायक हेमंत खंडेलवाल के हस्तक्षेप के बाद छोड़ दिया गया ।

प्रकरण 4 हाल ही में पश्चिम वन मंडल की गवासेन् रेंज में आने वाली दरियाव गंज पंचायत के सचिव जगदीश ठाकुर द्वारा फारेस्ट एरिया में अवैध उत्खनन कर मिटटी निकाली जिससे दर्जनों सागौन के पेड़ों को नुकसान हुआ । पश्चिम वन मंडल की प्रभारी एस डी ओ श्रद्धा पंद्रे ने सचिव और सरपंच के खिलाफ ऍफ़ आई आर दर्ज करवाई जिससे भी विधायक नाराज़ हुए ।

दरियाव गंज सचिव जगदीश ठाकुर राजस्व मंत्री रामपाल का विश्वाश पात्र है । इस प्रकरण में विधायक हेमंत खंडेलवाल ने हस्तक्षेप किया था लेकिन सीसीएफ श्री खान ने उनकी नहीं सुनी ।यही वजह है की श्री खान के विरुद्ध अवैध उत्खनन में लगे ठेकेदारो को संरक्षण देने वाले विधायको को एक जुट होकर मुख्यमंत्री से इन्हें हटाने के लिए अड़ना पड़ा और अंततः श्री खान का एक दिन में ही तबादला भोपाल हो गया ।विधायको ने पहली बार एक जुटता नहीं दिखाई है इसके पूर्व भी अवैध उत्खनन कर्ताओ पर तत्कालीन बैतूल कलेक्टर संजीव झा ताबड़तोड़ कार्यवाही की थी जिसके नतीजे में उन्हें एक ही दिन में हटा दिया गया था ।

वन कर्मचारियों द्वारा नैशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल के आदेश के बाद रेत में लगे अवैध खनिज माफियाओ पर लगातार कार्यवाहियां होने लगी जिससे चिंतित माफिया विधायकों की शरण में गए जिसके बाद ज़िला योजना समिति यह मुद्दा बड़े ज़ोर शोर से विधायक हेमन्त खण्डेलवाल ने उठाया ।आमला विधायक चैतराम मानेकर ने तो यहां तक कह दिया की वन विभाग अपने कानून कायदे अपने पास रखे तो सभी विधायको ने एक स्वर में कहा की आप लोग तो कार्यवाही करते हो हमें तो अपने क्षेत्रो में प्रोग्रेस भी देखनी है ।

रिपोर्ट @ अकील अहमद अक्कू

Facebook Comments

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .