Sanjeev Balyanटोंक- राजस्थान के टोंक में एक कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान का बुरा बर्ताव देखने को मिला। जहाँ मोदी सरकार अच्छे दिन का आश्वासन किसानों को दे रही है । वही मोदी सरकार के मंत्री ने एक किसान को आत्महत्या करने को कह दिया। कहा कि जा कर ले आत्महत्या मंत्री के इस तरह के बर्ताव से मोदी सरकार के छवि किसानों के सामने क्या रहेगी।

दरअसल सूखे के मर झेल रहे राजस्थान टोक का है ।  जहां भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के एक कार्यक्रम में संजीव बालियान मुख्य अतिथि के तौर पर शिरकत करने पहुंचे थे। इस दौरान मंच पर कई किसान अपनी समस्याओं को लेकर मंत्रीजी से मदद की गुहार लगाने पहुंच गए।

इस दौरान गिरिराज जाट नाम का भी एक किसान मंच पर पहुंच गया। गिरिराज की शिकायत थी कि बिजली का तार टूटने की वजह से 15 दिनों से उसके गांव अरनिया काकड़ में बिजली सप्लाई नहीं हो रही है और पानी के अभाव के चलते उसके खेतों में करीब 200 फलदार पेड़ों की एक खेप जल चुकी है। बिजली विभाग की लापरवाही के चलते हुए नुकसान से परेशान किसान गिरिराज ने मंत्री के सामने कहा दिया कि अगर वो या फिर अधिकारी उसकी मदद नहीं करते हैं तो मैं आत्महत्या कर लूंगा।

किसान गिरिराज ने ये बात कई दफे दोहरा दी जिसके बाद मंत्री संजीव बालियान बिफर उठे और किसान को कहा दिया ‘जा कर ले’ यहां कोई सुनता ही नहीं । इस पूरे मामले के बाद तुरंत ही मंच पर मौजूद अविकानगर के अधिकारी  और सुरक्षाकर्मी किसान गिरिराज को मंच से हटाकर नीचे ले गए और फिर उसे पांडाल से बाहर कर दिया गया।- एजेंसी