Home > State > Delhi > सरेआम पोर्न देखते पकड़े जा चुके हैं ये नेता

सरेआम पोर्न देखते पकड़े जा चुके हैं ये नेता

porn websitesनई दिल्ली। कर्नाटक के प्राथमिक व माध्यमिक शिक्षा मंत्री तनवीर साइत का एक वीडियो फुटेज सामने आया है, जिसमें वो एक अश्लील वीडियो अपने फोन पर देख रहे हैं। साइत के वीडियो सामने आने के बाद इस पर काफी विवाद हो रहा है लेकिन नेताओें के यूं सरेआम पोर्न देखने का ये पहला मामला नहीं है।

कर्नाटक के प्राथमिक व माध्यमिक शिक्षा मंत्री तनवीर साइत विवादों में हैं। टीपू सुलतान जयंती के एक कार्यक्रम के दौरान का उनका एक वीडियो सामने आया है, जिसमें उनके मोबाइल कुछ अश्लील वीडियो की फुटेज दिख रहे हैं।

इस वीडियो के मीडिया में आने के बाद विपक्षी पार्टी भाजपा इसको मुद्दा बना रही है तो वहीं कर्नाटक के मुख्यमंत्री ने इस पर अपने मंत्री से जवाब तलब किया है। हालांकि मुख्यमंत्री ने कहा कि इसमें कई शर्म की बात नहीं है।

वहीं साइत ने इस पर सफाई देते हुए कहा कि उन्हें व्हाट्सएप पर ये वीडियो आया था, जो उन्होंने क्लिक कर दिया। मंत्री जी इस पर अपनी तरह से सफाई दे रहे हैं लेकिन हम आपकों बता दें कि इससे पहले भी एमएलए सार्वजनिक कार्यक्रम ही नहीं विधानसभा तक में पोर्न देखते पकड़े जा चुके हैं।

नेता देख चुके हैं
इससे पहले कब-कब नेता जी पोर्न देखते पकड़े जा चुके हैं, ये हम आपको बता रहे हैं। इससे पहले 2012 में जब कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी की सरकार थी, तब उनके दो मंत्री विधानसभा में ही पोर्न देखते पकड़े गए थे।

फरवरी 2012 में उस समय की भाजपा सरकार में मंत्री लक्ष्मण सावडी और सीसी पाटिल की फोन पर अश्लील वीडियो देखते फुटेज सामने आए थे।
ये दोनों मंत्री विधानसभा में बहस के दौरान पोर्न देख रहे थे। इस समय के मुख्यमंत्री और तब के नेता विपक्ष सिद्धारमैया ने तब दोनों मंत्रियों के इस्तीफे को लेकर खूब हंगामा किया था।

फरवरी 2012 में कर्नाटक सरकार के दो मंत्रियों के पोर्न देखते हुए फुटेज सामने आने के बाद मार्च 2012 में गुजरात विधानसभा में भाजपा दो विधायक अपने टैब पर पोर्न देखते पकड़े गए।

शंकर चौधरी और जेठा धारवाड़ पर विधानसभा में पोर्न देखने के आरोप लगाते हुए विपक्षी कांग्रेस के सदस्यों ने जमकर हंगामा किया था।

2015 में कांग्रेस विधायक भी विधानसभा में पोर्न देखते पाए गए। दिसंबर 2015 में उड़ीसा विधानसभा में कांग्रेस के विधायक नाबा किशोर दास पर पोर्न देखने का आरोप लगा।

नाबा को सात दिन के लिए विधानसभा से निलंबित भी किया गया। हालांकि नाबा किशोर दास ने कहा कि उन्होंने कोई पोर्न फिल्म नहीं देखी।
अब एक बार फिर कर्नाटक के मंत्री ने सार्वजनिक कार्यक्रम में फोन पर एक ऐसी वीडियो देख ली है, जिसकी फुटेज ने उनकी सरकार को ही परेशानी में डाल दिया है।




Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com