बरेली : भीड़ ने एक युवक को भैंस चुराने के आरोप में पीट-पीटकर मार डाला। घटना भोलापुर डिंडोलिया गांव की है, जहां मंगलवार रात करीब 2.30 बजे चोरी की भैंस के साथ पकड़ा गया युवक ग्रामीणों के हत्थे चढ़ गया।

बुधवार सुबह उसकी जिला अस्पताल में मौत हो गई। युवक दुबई में दर्जी का काम करता था। कैंट थाने में युवक के दो दोस्त सहित अज्ञात गांव वालों के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट लिखी गई है।

ठिरिया निजावत खां के नत्थू खां का बेटा शाहरुख खां दुबई में दर्जी का काम करता था। करीब 22 दिन पहले वह घर लौटा था। उसके भाई फिरोज के मुताबिक मंगलवार शाम मोहल्ले के माजिद अली, पप्पू सहित एक अज्ञात शाहरुख को अपने साथ ले गए।

देर रात तक घर नहीं आया तो वह माजिद के घर पहुंचे तो उसने सुबह आने की बात कही।

बुधवार सुबह साढ़े आठ बजे उनके पास जिला अस्पताल से फोन आया कि शाहरुख भर्ती है। जिला अस्पताल पहुंचे तो शाहरुख ने बताया कि माजिद और पप्पू घुमाने के बहाने उसे भोलापुर हिंडोलिया ले गए थे। जहां दोनों ने भैंस चुराने की योजना बना ली। उसे कुछ नशे की गोलियां दे दी।

रात करीब ढाई बजे दोनों एक घर से भैंस चोरी कर भाग रहे थे, लेकिन मकान मालिक जाग गया। शोर मचाने पर ग्रामीणों ने उन्हें घेर लिया। मजिद और पप्पू भाग गए, लेकिन नशे में होने के कारण वह नहीं भाग सका। ग्रामीणों ने उसे लाठी-डंडों से पीटा। पुलिस ने उसे बचाया और जिला अस्पताल में भर्ती कराया।

शाहरुख सहित तीन पर भैंस चोरी की रिपोर्ट

भोलापुर हिंडोलिया निवासी गजेंद्रपाल ने शाहरुख, माजिद और पप्पू के खिलाफ भैंस चोरी की रिपोर्ट दर्ज कराई है। कैंट थाने के इंस्पेक्टर धर्मेंद्र गुप्ता ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में शाहरुख की लीवर और किडनी फटने से मौत होना आया है। अब ग्रामीणों की पहचान की जा रही है।

माजिद और पप्पू ने फंसवाकर मरवा दिया मेरा भाई

पोस्टमार्टम हाउस पर मौजूद भाई फिरोज ने बताया कि उनका भाई दुबई, सूरत और दिल्ली में ही रहता था। वह आर्थिक रूप से कमजोर नहीं है। फिर उनका भाई भैंस चोरी क्यों करेगा। उनके मुताबिक माजिद और पप्पू आपराधिक प्रवृत्ति के हैं। उन्होंने उनके भाई को फंसवाकर मरवा दिया।