मोदी सरकार में केंद्रीय पशुपालन राज्य मंत्री प्रतापचंद्र सारंगी का कहना है कि जीएसटी और नोटबंदी के कारण मंदी आई है।

उन्होंने कहा कि जल्द ही स्थिति में बदलाव होगा। यह बयान उन्होंने मध्यप्रदेश के सीहोर जिले के इछावर में दिया। वह यहां केंद्रीय पूनी सयंत्र खादी और ग्रामोद्योग आयोग में शनिवार को निरीक्षण करने के लिए पहुंचे थे।

मीडिया से बातचीत में उन्होंने इस बात को स्वीकार किया कि मंदी में जल्द ही बदलाव होगा।

मंत्री ने कहा कि किसी भी कंपनी और उद्योग के कर्मचारियों का रोजगार नहीं छीना जाएगा। सुबह होने से पहले रात घनी होती है। मंदी से उद्योग धंधों पर कोई खास फर्क नहीं पड़ेगा। इससे ऊबरने के लिए केंद्र सरकार कोशिशें कर रही हैं। इस दौरान उन्होंने गाय और राम राजनीति पर टिप्पणी की।

सांरगी ने कहा कि गाय और राम राजनीति का नहीं बल्कि राष्ट्रीय गौरव का मुद्दा है। गाय को किसी धर्म से नहीं जोड़ना चाहिए।

उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार ने एक हजार गौशालाएं बनाने का संकल्प किया है जोकि अच्छी बात है। हम इस काम में सरकार की मदद करेंगे।

केंद्रीय मंत्री के बोलने से पहले मध्यप्रदेश सरकार के पशुपालन मंत्री लाखन सिंह यादव ने कहा था कि भाजपा ने 15 साल प्रदेश में शासन किया। मगर गाय और राम के नाम पर राजनीति करने वाली भाजपा सरकार ने गायों के लिए कुछ नहीं किया।

उन्होंने सारंगी से कहा कि आप इसे अन्यथा न लें क्योंकि आप अलग तरह के नेता हैं। आपकी सादगी हम जैसे नेताओं के लिए मिसाल है। इसके बाद उन्हें सलाह देते हुए मंत्री ने उन्हें राम और गाय के नाम पर राजनीति न करने को कहा।