सत्ता की भूख के लिए कांग्रेस के साथ जेपी -लोहिया के चेले - Tez News
Home > State > Bihar > सत्ता की भूख के लिए कांग्रेस के साथ जेपी -लोहिया के चेले

सत्ता की भूख के लिए कांग्रेस के साथ जेपी -लोहिया के चेले

modiपटना – पटना के गांधी मैदान में दो दिन पहले हुई महागठबंधन की स्वाभिमान रैली में जहां हर किसी के निशाने पर प्रधानमंत्री मोदी रहे थे, वहीं आज भागलपुर में हुई एनडीए की परिवर्तन रैली में मोदी ने एक एक कर सबसे हिसाब चुकता कर लिया।

स्वाभिमान रैली पर कटाक्ष करते हुए कहा कि दो दिन पहले पटना के गांधी मैदान में हुई ‘तिलाजंलि सभा’ में राम मनोहर लोहिया, जय प्रकाश नारायण और कर्पूरी ठाकुर को तिलाजंलि दी गई।

राम मनोहर लोहिया और उनके चेले चपाटे जीवनभर कांग्रेस के ख‌िलाफ लड़ते रहे लेकिन उन्हीं के चेले सत्ता स्वार्थ और सत्ता की भूख के लिए उन लोगो के साथ हो लिए जिनका जीवनभर लोहिया ने विरोध किया। जयप्रकाश नारायण ने जिस कांग्रेस का विरोध किया और जिसके खिलाफ संपूर्ण क्रांति का बिगुल फूंका आज उन्हीं के अनुयायियों ने आज कांग्रेस का दामन थाम लिया।

इससे पूर्व मुस्लिम बहुल भागलपुर में रैली की शुरूआत करते हुए मोदी ने कहा कि मेरी यह एनडीए की चौ‌थी रैली है, लेकिन मैं कह सकता हूं कि भागलपुर ने सारे विक्रम तोड़ दिए।

बिहार में गत कई वर्षों की जो रैली हुई हैं उन सबके रिकार्ड आपकी भीड़ ने तोड़ दिए। इस रैली में आई भीड़ को देखकर जो पॉलीटिकल पंडित हैं वो भली भांति हवा का रुख पहचान लेंगे। जनता जनार्दन का जो मिजाज है उसे समझ लेंगे।

कहा, 24 साल बाद हवा का रुख बदल रहा है इस विजय यात्रा को कोई रोक नहीं सकता। कितने नेता इकट्ठे हो जाएं, कितने भ्रम फैलाए जाएं अब बिहार की जनता विकासशील बिहार बनाने के लिए एकजुट हो चुकी है।

वहीं मोदी ने लालू-नीतीश के गठबंधन पर निशाना साधते हुए कहा कि 25 साल जिन्होंने बिहार में राज किया वो अपना हिसाब नहीं दे रहे, मुझसे सवा साल का हिसाब मांग रहे हैं। मैं अपना हिसाब तो अगले लोकसभा चुनावों में दूंगा।

जनता को उन लोगों से सवाल पूछना चाहिए जिन्होंने 2010 के चुनावों में ये वादा किया था कि बिजली नहीं मिलेगी तो वोट मांगने नहीं आऊंगा। अब किस मुंह से वोट मांगने आएंगे।

पटना में महागठबंधन की स्वाभिमान रैली पर मोदी बोले उस मंच पर एक से बढ़कर एक नेता जुटे थे, लेकिन मुझे यह जानकर हैरत हुई की किसी ने भी यह बात नहीं कि कैसे बिहार को आगे ले जाया जाए, कैसे बिहार के लोगों को रोजगार मिले।

हर किसी की जुबान पर बस एक ही मुद्दा था मोदी, मोदी। मैं तो ये जानकर हैरत में पड़ गया था कि अब तक मेरी रैलियों में भाजपा कार्यकर्ता या आम जनता ही मेरे नाम के नारे लगाया करती थी पर अब तो विपक्षी भी मोदी मोदी करते हैं।

गया रैली में बिहार को दिए स्पेशल पैकेज का मजाक उड़ाने वालों पर भी उन्होंने निशाना साधा। कहा कि नीतीश कुमार मेरे दिए पैकेज का मजाक उड़ा रहे थे। लेकिन पटना की रैली में खुद उसके विरोध में प्रदेश सरकार का 2.70 लाख करोड़ का पैकेज घोषित कर दिया। नीतीश के पैकेज की बखिया उधेड़ते हुए मोदी ने कहा कि देश के वित्त आयोग हर राज्य के लिए विकास का बजट निर्धारित करता है।

बिहार के लिए भी उसने पांच सालों के लिए 3.74 लाख करोड़ का बजट तय किया है। जो आगामी पांच सालों में बिहार में विकास कराने के लिए राज्य सरकार को दिया जाएगा। मोदी ने आरोप लगाया कि नीतीश ने इसी बजट में से 2.70 लाख करोड़ रुपये की घोषणा जनता के सामने कर दी। मोदी ने सवाल उठाया कि जब इतना बताया था तो ये भी बता देते की बाकी का एक लाख करोड़ कहां जाएगा, चारा खाने के लिए।

loading...
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com