UP-assembly.lलखनऊ – बजट सत्र के दौरान आज उत्तरप्रदेश की विधानसभा मोदी विरोधी नारों से गूँज उठी। सदन में कोंग्रेसी विधायको का जोश आज देखने लायक था। ऐसा लगा मानो कोई संजीवनी मिल गई हो। आज यहाँ विधानसभा में प्रधानमंत्री नरेन्द मोदी के खिलाफ कांग्रेस ने जम के नारेबाज़ी की और उनको किसान विरोधी, तानाशाह, भू- माफिया कहा।     
 
विधानसभा में बजट चर्चा का आज आखिरी दिन था। विधानसभा में बजट पर चर्चा पूर्ण होने के बाद मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को संभवता 02:30 बजे अपना जवाब देना था, पर सदन के वेल में कोंग्रेसियो के भारी हंगामे के कारण विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पाण्डेय को सदन की कार्यवाही को दो बार रोकना पड़ा। इस दौरान कांग्रेस के सभी विधायक सदन के वेल में बैठे रहे। 
 
आज विधानसभा में प्रश्नकाल के दौरान अनुग्रह नारायण सिंह का पहला प्रशन भूमि अधिग्रहण बिल पर लगा हुआ था। जिस पर भाजपा ने आपत्ति जताई। भाजपा का कहना  था की जब ये बिल कल लोकसभा में पास हो गया है तो आज इस पर यहाँ चर्चा करना और केन्द सरकार पर टिप्पणी करना उचित नहीं है। भाजपा का इतना कहना था की कोंग्रेसी विधायक भड़क गए और सदन के वेल में आकर मोदी विरोधी नारे लगाने लगे। आज सदन में मोदी विरोधी नारेबाजी करने में कोंग्रेसी विधायक पंकज मलिक और अजय लल्लू सबसे आगे रहे। अध्यक्ष के कई बार रोकने के बावजूद कोंग्रेसी विधायक नारेबाज़ी करते रहे। 
 
एक तरफ विधानसभा अध्यक्ष सदन को सुचारू रूप से चलने की कोशिश कर रहे थे, वही दूसरी और कोंग्रेसी विधायक उनकी बात मानने को तैयार नहीं थे, बढ़ते हंगामे की बीच ही विधानसभा अध्यक्ष ने सदन की आज की कार्यवाही को कल 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया।   
विधानसभा में कोंग्रेसी विधायको द्वारा मोदी विरोधी नारो को लेकर सदन में भाजपा के नेता सुरेश खन्ना ने कड़ी निंदा वयक्त की है।    
रिपोर्ट :-शाश्वत तिवारी 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here