शिक्षा और अमीरी पैदा कर रहे हैं अहंकार, इसी वजह से बढ़ रहे तलाक़- भागवत

नागपुर : राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) चीफ मोहन भागवत ने रविवार को कहा कि इन दिनों तलाक के ज्यादा मामले पढ़े -लिखे परिवारों से सामने आ रहे हैं।

मोहन भागवत का कहना है कि शिक्षा और अमीरी अंहकार उत्पन्न कर रहा है, इसके कारण लोगों के परिवार टूट रहे हैं। अपने परिजन के साथ कार्यक्रम में आए RSS कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए भागवत ने कहा कि भारत में हिंदू समाज का कोई दूसरा विकल्प नहीं है।

वहीं, RSS द्वारा जारी बयान में मोहन भागवत ने कहा कि वर्तमान समय में तलाक के मामले बहुत बढ़ गए हैं। लोग निरर्थक मुद्दों पर लड़ रहे हैं। तलाक के मामले शिक्षित और संपन्न परिवारों में ज्यादा हैं क्योंकि शिक्षा और संपन्नता से अहंकार पैदा होता है, जिसका परिणाम परिवारों का टूटना है। इससे समाज भी खंडित होता है क्योंकि समाज भी एक परिवार ही है।

इस दौरान RSS चीफ ने कहा कि हम उम्मीद करते हैं कि स्वयंसेवक अपने परिवार के सदस्यों को संघ की गतिविधि के संबंध में बताएंगे क्योंकि कई बार परिवार की महिला सदस्य को हमसे ज्यादा कठिन काम करना पड़ता है ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि हम जो काम कर रहे हैं वह कर सके।

उन्होंने कहा कि महिलाओं को घर तक ही सीमित करने का नतीजा वर्तमान समाज है जो हम देख रहे हैं।