नई दिल्ली: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ प्रमुख मोहन भागवत पटना के टेकारी मंदिर पहुंचे थे जहां उन्होंने देवराहा हंस बाबा से मुलाकात की और उनसे आशीर्वाद लिया। RSS के फेसबुक पेज पर शेयर की गई पोस्ट द्वारा इसकी जानकारी दी गई। साथ ही बताया गया कि देवराहा हंस बाबा ने राम जन्मभूमि पर जल्द ही भव्य मंदिर निर्माण की इच्छा व्यक्त की। वहीं, उन्होंने भागवत के सिर पर अपना पैर रखकर आशीर्वाद दिया।

मोहन भागवत ने गुरुवार को सोनपुर में कई साधु-संतों से मुलाकात की और लक्ष्मी नारायण मंदिर जाकर संत जीयर स्वामी से भी मुलाकात की। इसके बाद पटना जाकर उन्होंने स्वामी प्रपन्नाचार्य से मुलाकात की। जीयर स्वामी और स्वामी प्रपन्नाचार्य दोनों ही संत रामानंद संप्रदाय के हैं। मोहन भागवत ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर जरूर बनना चाहिए। इसके लिए वे मन से जुटे हैं।

इसके पहले, आरएसएस प्रमुख से देवराहा हंस बाबा ने कहा कि जल्द ही भारत की आध्यात्मिक शक्ति का प्रभाव पूरी दुनिया में फैलेगा। सामाजिक विषमता समाज की एकता में सबसे बड़ी बाधा है, जिसे दूर करने की कोशिश जल्द करनी होगी। उन्होंने कहा कि समाज की एकता और अखंडता के लिए ये आवश्यक है। देवराहा हंस बाबा ने संघ के कार्य के विस्तार व सज्जन-शक्ति जागरण को साथ लेकर चलने की बात कही।

बता दें कि कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर गंगा में शाही स्नान करने के लिए दूर-दराज से साधु-संत सोनपुर मेले में पहुंचे थे। इस दौरान मोहन भागवत ने गजेंद्र मोक्ष मंदिर के महंत स्वामी लक्ष्मनाचार्य से भी मुलाकात की। साधु-संत समाज ने एक बार फिर अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के मुद्दे को उनके सामने उठाया।