MP : मृत्युभोज में 1500 लोग शामिल हुए थे, 12 निकले कोरोना पॉजिटिव

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को लेकर जहां पूरे देश में लॉकडाउन है, वहीं मुरैना जिला प्रशासन इससे बेखबर रहा। यही वजह रही कि एक साथ 12 कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आए हैं।

मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस का कहर तेजी से फैल रहा है। अब तक जहां इस महामारी के सबसे ज्यादा मामले इंदौर से सामने आ रहे थे, वहीं अब मुरैना सुर्खियों में आ गया है। मुरैना जिले में दो दिनों के भीतर ही 12 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। इससे दहशत फैल गई है।

दरअसल, बीते 17 मार्च को दुबई में वेटर का काम करने वाला युवक अपनी दादी के श्राद्ध में शामिल होने मुरैना आया था। 20 मार्च को हुए तेरहवीं में एक हजार से ज्यादा लोग शामिल हुए थे।

इतनी बड़ी संख्या में लोगों के जमा होने से प्रशासन में हड़कंप मच गया। प्रशासन इन लोगों की पहचान कर जांच कर रहा है।

आपको बता दें कि मुरैना में 12 कोरोना पॉजिटिव मरीजों के मिलने के बाद प्रदेश में अब संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर लगभग 200 के आसपास पहुंच गई है। इनमें से अब तक 11 की मौत हो चुकी है।

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को लेकर जहां पूरे देश में लॉकडाउन है, वहीं मुरैना जिला प्रशासन इससे बेखबर रहा। यही वजह रही कि एक साथ 12 कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आए हैं।

बताया गया कि सतर्कता के तमाम दावों के बावजूद मुरैना जिला प्रशासन ने दुबई से आने वाले युवक की ट्रेवल हिस्ट्री की जांच नहीं की थी। इसके बाद युवक और उसके परिजनों ने श्राद्ध के बहाने हजार से ज्यादा लोगों को न्योता दिया, प्रशासन को इसकी भी जानकारी नहीं मिल पाई।

आखिरकार जब युवक की पत्नी की तबीयत खराब हुई और उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, तब उसके दुबई से आने का खुलासा हुई। युवक के दुबई से आने की जानकारी मिलने के बाद प्रशासन हरकत में आया और पति-पत्नी की जांच कराई गई, जिसमें दोनों कोरोना पॉजिटिव पाए गए।

दुबई से लौटे युवक और उसकी पत्नी के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद प्रशासन ने उसके परिवार के अन्य सदस्यों की जांच की। साथ ही युवक मुरैना में जहां रहता है, उस वार्ड 47 में रहने वाले 1300 अन्य घरों की भी जांच की गई।

प्रशासन ने जांच-पड़ताल के बाद युवक के 26 परिजनों को जांच के बाद आइसोलेशन में भेज दिया। इनमें से 10 लोगों की रिपोर्ट में कोरोना पॉजिटिव होने का मामला सामने आया है। अन्य लोगों की रिपोर्ट आना शेष है।

खास बात यह है कि इन सभी लोगों का इलाज कर रहे 4 डॉक्टरों की भी जांच की गई है, जिनकी रिपोर्ट नहीं आई है। इतनी बड़ी संख्या में कोरोना पॉजिटिव केस के सामने आने के बाद प्रशासन ने एक लिस्ट जारी की है।

साथ ही लोगों से अपील की है कि जिन लोगों के नाम इस लिस्ट में शामिल हैं, वे भी जांच करा लें।