Home > India > गर्भनिरोधक गोलियां जानलेवा भी हो सकती हैं !

गर्भनिरोधक गोलियां जानलेवा भी हो सकती हैं !

Demo-Pic

Demo-Pic

गर्भनिरोधक गोली के बिना आज की दुनिया में परिवारनियोजन में ही नहीं, नारी समानता लाने में भी वह सफलता नहीं मिल पायी होती, जो मिल सकी है। आमतौर पर अनचाहे गर्भ को रोकने के लिए डॉक्टर्स गर्भनिरोधक गोलियां लेने की सलाह देते हैं लेकिन कई बार गर्भनिरोधक गोलियों को लेने से होने वाले नुकसान डॅाक्टर नहीं बताते।

लेकिन अब पता चला है कि ये गोलियाँ जानलेवा भी हो सकती हैं। पिछले साल स्विट्जरलैंड में एक युवा महिला की असमय मृत्यु ने गर्भनिरोधक गोली के इस खतरे को एक बार फिर उजागर कर दिया। उसकी मृत्यु फेफड़े में एम्बोली, यानी खून का एक छोटा सा थक्का फंस जाने से हुई थी।

समझा जाता है कि यह थक्का गर्भनिरोधक गोली लेने से ही बना था। जो महिलाएं गर्भनिरोधक गोलियां लेती हैं, उन के शरीर में खून के थक्के बनने का खतरा अन्य महिलाओं की अपेक्षा बढ़ जाता है। यदि ऐसा कोई थक्का फेफड़ों में पहुँच जाता है, तो वह अक्सर जानलेवा भी साबित होता है। गर्भनिरोधक गोलियाँ बाजार में आए अब करीब 50 साल हो गए हैं।

इस बीच उनकी तीसरी पीढ़ी बाजार में उपलब्ध है। विज्ञापनों में उनके पूरी तरह सुरक्षित होने की डींग हाँकी जाती है, लेकिन ऐसा है नहीं। स्त्रीरोग डॉक्टर क्लाउडिया त्सियरिस कहती हैं कि विभिन्न गोलियों के बीच मुख्य अंतर यह है कि उन के भीतर कौन सा हर्मोन है और कितनी मात्रा में है। इसी पर निर्भर करता है कि किस गोली में कौन से खतरे या उपप्रभाव छिपे हुए हैं।

वह बताती हैं, ‘गर्भनिरोधक गोली का मतलब यही है कि उसमें आम तौर पर दो अलग-अलग वर्गों के हार्मोन हैं। एक को एस्ट्रोजन और दूसरे को गेस्टाजन कहते हैं। ‘

गर्भनिरोधक गोलियां लेने के दौरान हॉर्मोन में उतार-चढ़ाव होता है। कई बार सिरदर्द भी होने लगता है। पहली बार गर्भनिरोधक गोलियां लेने की वजह से कई महिलाओं का जी मिचलाता है, लेकिन कुछ दिनों में इसका असर हल्का हो जाता है। गर्भनिरोधक गोलियां लेने के कुछ हफ्ते बाद स्तनों का बढ़ना या उनमें कोमलता जैसे हल्के प्रभाव दिख सकते हैं। स्तनों में कोमलता, गांठ या दर्द महसूस होने पर डॅाक्टर से तुरंत जांच कराएं।

गर्भनिरोधक गोलियां लेने से अक्सर महिलाओं को पीरियड के दौरान ज्यादा ब्लीडिंग हो सकती हैं। गर्भनिरोधक गोलियां लेने के दौरान वजन का बढ़ना आम बात है, अक्सर पानी की कमी की वजह से भी ऐसा हो जाता है। अक्सर इन गोलियों के सेवन महिलाओं को जलन, खुजली जैसी परेशानियां हो जाती हैं। [हेल्थ डेस्क]




Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com