ganga--bathइलाहाबाद – मौनी अमावस्या स्नान पर्व को लेकर पुलिस की तैयारियां तेज हो गई हैं। मेला क्षेत्र के साथ ही पूरे शहर की पुलिस को हाईअलर्ट पर रखा गया है। रविवार को शाम होते ही सघन तलाशी अभियान चलाया गया। शहर के प्रमुख चौराहों के साथ ही मेला क्षेत्र में प्रवेश करने वाले वाहनों की तलाशी ली गई। कई पंडालों में रुके बाहरी लोगों के आईडी चेक किए गए और रेलवे स्टेशन तथा बस स्टेशनों को भी खंगाला गया।

मौनी अमावस्या स्नान पर्व 4500 वर्दीधारियों के कड़े पहरे में होगा। अमावस्या के लिए विशेष तौर पर एक एएसपी, छह डीएसपी, 26 थानेदार, पांच कंपनी पीएसपी, एक कंपनी आरएएफ बुलाई गई है। दो कंपनी एटीएस, एक कंपनी आरएएफ और नौ कंपनी पीएसी समेत 3800 पुलिस कर्मी पहले से ही मेला क्षेत्र में तैनात हैं। स्नान पर्व के लिए जोन से 700 अतिरिक्त पुलिस कर्मी बुलाए गए हैं। रविवार की भीड़ और वीवीआईपी मूवमेंट के बावजूद पुलिस ने चेकिंग अभियान तेज कर दिया। बाहर से आने वाले हर वाहन को चेक किया गया। तलाशी अभियान सिविल लाइंस, कीडगंज, रामबाग, अलोपीबाग आदि इलाकों में भी चलाया गया। कुछ संदिग्ध लोगों को पूछताछ के लिए देर रात तक बैठाए भी रखा गया।

पुलिस ड्रोन खरीद की प्रक्रिया को अब तक पूरा नहीं कर सकी है। रेट को लेकर बंगलूरू की कंपनी से बात बिगड़ने के बाद शहर की भी सिक्योरिटी कंपनी से बात की गई थी। हालांकि यह डील भी अब तक फाइनल नहीं हो सकी है। हालांकि कंपनी के मालिक संजय शर्मा ने मौनी अमावस्या पर निगरानी के लिए मुफ्त में ही ड्रोन देने की पेशकश की है। संजय की कंपनी ने ही अर्द्ध कुंभ के दौरान आसमान से निगरानी के लिए पुलिस को उपकरण मुहैया कराए थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here