Home > Crime > एमपी: अवैध शराब का कारोबार बेरोकटोक जारी, नाबालिग भी चपैट में

एमपी: अवैध शराब का कारोबार बेरोकटोक जारी, नाबालिग भी चपैट में

drinkपुनासा- अवैध शराब का कारोबार नगर व समीपस्थ के छोटे छोटे गांवो, कस्बों मे बेरोक टोक जारी है | यहॉ तक कि दस पन्द्रह मकानो की आबादी मे भी अंग्रेजी एंव देशी शराब आसानी से मिल जायेगी | अवैध शराब का कारोबार लगभग क्षैत्र के प्रत्येक छोटे बडे गांवो मे चल रहा है |

दैहातो मे हो रही अवैध शराब की खरीद- फरोख्त एंव सरलता से उपलब्ध होने के चलते नाबालिग व नौजवान इसकी चपैट मे तेजी से आकर शराब के आदी हो रहे है | गरीब मजदूर शराब के आदी हो रहे है | व अपनी मेहनत की गाढी कमाई शराब के सेवन पर खर्च कर रहे है | जिससे इनके परिवार के सामने दो समय के भोजन की भी समस्या खडी हो जाती है |

उल्लेखनीय है कि शराब के नशे मे व शराब खरीदने के लिए पारिवारिक विवादो की प्रवत्ति भी बढ़ती है | प्रश्न ये है कि क्षैत्र मे चल रहे अवैध शराब कारोबार पर पुलिस एंव आबकारी विभाग सटीक व बडी कार्यवाही क्यो नही कर पा रहा है ? इन दिनों क्षेत्र के अधिकतर गांवों में अवैध रूप से बिना रोक-टोक शराब बेची जा रही है। गांवों की स्थिति यह है कि गांव वालों को पानी की तलाश मे भटकना पड सकता है पर मदिरा प्रेमी को गाँव में बिना मशक्कत करे शराब उपलब्ध हो जाती है।

अवैध रूप से एक लाइसेंस पर गांव-गांव में संचालित की जा रही उपकलालीयों ने गांवों का माहौल पूरी तरह से दूषित कर दिया है। गांवों में शराब के कारण दिनों दिन अपराधों में वृद्धि हो रही है, साथ ही आसानी से शराब उपलब्ध हो जाने से भोले-भाले ग्रामीण शराब की लत में जकड़ते जा रहे हैं। शायद ही कोई ऐसा गांव होगा जहां अवैध रूप से शराब नहीं बेची जा रही है। शराब का अवैध कारोबार कस्बो की किराना दुकानो व घरो से भी संचालित किया जा रहा है | इन लोगो तक घर बैठे अवैध परिवहन कर शराब पहुचाई जाती है | ये अवैध कारनामे क्षैत्र मे धडल्ले से चल रहे है | जो जनता को तो दिखाई दे रहे है किंतु आबकारी विभाग को शायद नही दिख रहे है |

अलग – अलग स्थानो पर कार्यवाही की जा रही है | स्टॉफ की कमी के कारण कार्यवाही धीमी है | दो तीन दिनो मे क्षैत्र मे कार्यवाही की जायेगी |
विजयसिंह सोलंकी- जिला अधिकारी, आबकारी विभाग

रिपोर्ट- @मो. इमरान जिन्द्रान

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com