Home > India News > मुगलकाल में था गौ हत्या पर प्रतिबंध : गोपाल मणि महाराज

मुगलकाल में था गौ हत्या पर प्रतिबंध : गोपाल मणि महाराज

pc by Rajendra Chouhan

                                            pc by Rajendra Chouhan

खंडवा (हर्ष उपाध्याय) : भारतीय गौ क्रांति मंच देश भर में गौ माता को राष्ट्र माता का दर्जा दिलाने को लेकर आंदोलन कर रहा है। जिसके तहत मंच गौ प्रतिष्ठा भारत यात्रा के माध्यम से लोगों का समर्थन जुटा रहा है। गौ क्रांति मंच के संचालक और कथावाचक गोपाल मणि महाराज ने अपने कथा वचन में भारत को गौ रक्षकों का देश बताया साथ ही उन्होंने यह भी बताया की बाबर ने धार्मिक स्थल को तोड़ कर दूसरा धार्मिक स्थल तो बना लिया था पर गौ हत्या करने से मना कर दिया था। इतना ही नहीं उन्होंने अपनी कथा के दौरान यह भी कहा की पूरे मुगल काल में गौ हत्या पर प्रतिबंन्ध था। लेकिन अंग्रेजो ने यहाँ (भारत में ) कत्लखाने खोले। उन्होंने पिछली सरकार के साथ ही वर्त्तमान सरकार को भी अड़े हाथों लेते हुए कहा की अगर गौ माता को राष्ट्र माता का दर्जा नहीं दिया गया तो वोटों के जरिए बहार का रास्ता दिखा दिया जायगा।

गौरी कुंज सभागृह में गौ माता को राष्ट्र माता का दर्जा दिलाने भारतीय गौ क्रांति मंच के बैनरतले कथा का आयोजन किया गया। कथा में गौमाता की महिमा का बखान करते हुए कथावाचक गोपाल मणि महाराज ने कहा की भारत का विकास करना है तो सरकार को गौ माता को राष्ट्र माता का दर्जा देना होगा। गोपाल मणि महाराज ने कहा की गाय के शरीर पर हाथ फेरने से ही कही बीमारियां ठीक हो जाती है। उन्होंने कहा की आज हम गौ उत्पादों से दूर होते जा रहे है। गोबर की जगह हम पेट्रोल और गैस को बढ़ावा देते है , गोबर की खाद सर्वोत्तम होने के बाद भी हम विदेशों से आयातित रासायनिक खाद का उपयोग करते है। ऐसे ने देश का विकास नहीं होता बल्कि विदेशों का भला हो जाता है।

गौ हत्या पर बात करते हुए गोपाल मणि महाराज ने कहा कि पूरे मुग़ल काल में गौ हत्या पर प्रतिबंध था। उन्होंने बताया की बाबर ने मंदिर की जगह मस्जिद तो बना दी पर गौ हत्या करने पर रोक लगा दी थी साथ ही कहा की अंतिम मुग़ल बादशाह बहादुरशाह जफ़र के काल में तो गौ हत्या करने वाले के हाथ काट दिए जाते थे। किन्तु जब से भारत के अंग्रेज हुकूमत आई तब से कत्लखानों को प्रत्साहन मिला है। मणि महाराज कहा कि आजादी के बाद जहा कत्लखाने बंद होने थे वहीँ दुर्भाग्य से इन कत्लखानों की संख्या में इजाफा हुआ है। मौजूदा सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि अगर गौ को राष्ट्र माता का दर्जा नहीं दिया और हमारी जो पांच मांगे है उन्हें नहीं माना गया तो राष्ट्रव्यापी आंदोलन करेंगे।

यह है मांगे
गौ माता को राष्ट्र माता का दर्जा ।
गौ मंत्रालय बनाया जाए ।
10 वर्ष तक के बच्चों को गाय का दूध पिलाया जाए।
10 रूपये किलो गाय का गोबर सरकार किसान से ख़रीदे।
गौचर भूमि मुक्त करे ।
गौ हत्यारों को मौत की सजा हो।

गोपाल मणि महाराज ने खंडवा विधायक देवेन्द्र वर्मा को अपना मांग पात्र सौप साथ खंडवा तहसीलदार को अपनी मांगों का ज्ञापन भी दिया । मंच गौ प्रतिष्ठा भारत यात्रा , भारत के 676 जिलो में जायगी खंडवा 222 जिला है जहा यात्रा पहुची है जो लोगो से समर्थन जुटा रही है। इस इस अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार राजेन्द्र परासर , समाज सेवी सुनील जैन , ओम मित्तल , अरुण जैन सहित भारतीय गौ क्रांति मंच के सदस्य उपस्थित थे।

 

Facebook Comments

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .