Shivpal Singh Yadavलखनऊ- यूपी की सियासत में लंबे समय तक छाया रहा अखलाक हत्याकांड मामले में एक बड़ा खुलासा हुआ है। एक रिपोर्ट में बताया गया है कि उत्तर प्रदेश के दादरी के एक गांव में जिस घर में गोमांस की बात कह कर एक अखलाक को पीट-पीटकर मार डाला गया था, वहां फ्रिज में रखा मांस गोमांस नहीं बल्कि बकरे का मांस था। इस रपट के सामने आने के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने सोमवार को कहा कि वह दादरी के गांव में बवाल भड़काने वालों के खिलाफ कार्रवाई करेगी।

प्रदेश के लोक निर्माण विभाग मंत्री शिवपाल सिंह यादव ने बताया कि पशुचिकित्सा अधिकारी की रपट ने यह बात पूरी तरह से साबित कर दी है कि मोहम्मद अखलाक के घर में मिला मांस गोमांस नहीं था बल्कि बकरे का मांस था।

उन्होंने कहा कि हम शुरू से कह रहे हैं कि यह पूरा मामला भाजपा के नेतृत्व में सांप्रदायिक लोगों का किया धरा है। हम भविष्य में भी इनसे सख्ती से निपटेंगे। इससे पहले नोएडा के उप मुख्य पशुचिकित्सा अधिकारी ने सरकार को सौंपी अपनी रपट में कहा कि अखलाक के घर से गोमांस नहीं मिला है।

उन्होंने अपनी रपट में लिखा है कि मेरी पूरी अच्छी जानकारी में और पर्याप्त परीक्षणों के बाद प्रथमदृष्टया यही लगता है कि मांस बकरे का है। उन्होंने कहा कि और अधिक जानकारी फारेंसिक परीक्षण से ली जा सकती है।-एजेंसी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here