Home > Crime > मुस्लिम भजन सिंगर, ब्वॉयफ्रेंड की हत्या में पहुंची जेल

मुस्लिम भजन सिंगर, ब्वॉयफ्रेंड की हत्या में पहुंची जेल

देशभर में नवरात्रों की धूम मची है। चारों ओर भक्तिभाव का माहौल है। लोग मां अम्बे की आराधना में डूबे हैं। भजनों की आवाज गूंज रही है, लेकिन आज जिस भजन गायिका के बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं वो दूसरों से हटकर है। मुस्लिम समुदाय में जन्म लेने के बावजूद वो हिंदू देवी-देवताओं के भजन गाती हैं, हालांकि उनकी जिंदगी विवादों से भरी हुई है। हत्या की दोषी पाई गई है, लेकिन लोग उनके गानों के दीवाने है। नवरात्रों पर उनके गाने घूम मचा रहे हैं। हम बात कर रहे हैं मुस्लिम भजन गायिका शहनाज अख्तर की।

मुस्लिम भजन गायिका

मुस्लिम परिवार में जन्मीं शहनाज हिंदू देवी-देवताओं के भजन गाती हैं। वो 10 साल की उम्र से ही भजन गा रही हैं। लेकिन मुस्लिम होने के चलते उन्हें इसके लिए कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। उनके खिलाफ फतवा तक जारी हो गया, लेकिन उन्होंने भजन गाना नहीं छोड़ा।

शौक को बनाया करियर

शहनाज ने भजन गाने की तालीम नहीं ली है। वो बचपन में अपने टेप रिकॉर्डर पर भजन सुनती थी। फिर वो उसे गुनगुनाने लगी और उन्होंने इसे ही अपना करियर बना लिया। शहनवाज का मानना है कि जिसमें उनका दिल लगता है उसे गाने में क्या बुराई।

पहले एल्बम से ही हो गई फेमस

शहनाज अख्तर की डिमांड बढ़ने लगी। उन्होंने साल 2005 में अपना पहला एल्बम लॉन्च किया। इस एल्बम ने धूम मचा दी।बच्चे-बच्चे की जुबां पर उका भजन चढ़ गया। उनका गाना ‘छुम-छुम छननन बाजे मइया पांव पैजनिया..’ सुपरहिट हुआ। आज तक इस गाने की धूम है।

मंदिर जाने से कोई परहेज नहीं

शहनाज मंदिर जाने में कोई परहेज नहीं करती। वो कहती हैं कि उन्हें ना तो मंदिर जाने से एतराज है और न ही ना ही देवी-देवताओं से। वे कहती हैं कि मुझे भजन गाने के कारण देवी मां की कृपा से इतनी पहचान मिली है, इसलिए मैं उनका आशीर्वाद लेने अक्सर मंदिर जाती हूं।

100 से ज्यादा एल्बम

शहनाज ने 100 से ज्यादा भजनों के एल्बम आ चुके है। वो लाइव शो और स्टेज शो भी खूब करती है। नवरात्रों में उनकी डिमांड खूब बढ़ जाती है। लोग मोटी फीस चुकार शहनाज के शो की बुकिंग करते हैं।

अवैध संबंध के चलते कराई प्रेमी की हत्या

शहनाज का नाम उस वक्त विवाद में आया था, जब उनके ऊपर प्रेमी की हत्या का आरोप लगा और वो दोषी पाई गई। सिवनी पुलिस ने 19 साल के अजहर खान की हत्या के मामले में शहनाज और उसके पति एजाज को गिरफ्तार किया था। शहनाज का अजहर के से अवैध संबंध था। जिसकी भनक उनके पति को लग गई और फिर पति-पत्नी ने मिलकर अजहर की हत्या करवा दी।

पहुंची जेल

ब्वॉयफ्रेंड की हत्या मामले में शहनाज समेत दूसरे आरोपियों को उम्रकैद की सजा सुनाई गई। फिलहाल शहनाज पैरोल पर रिहा है। शहनाज को अपने किए पर पछतावा है, लेकिन अब पछताने के अलावा उनके पास कोई विकल्प नहीं है।

Facebook Comments

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .