कश्मीरी पंडित मसले पर भिड़े नसीरुद्दीन शाह - अनुपम खेर - Tez News
Home > Entertainment > Bollywood > कश्मीरी पंडित मसले पर भिड़े नसीरुद्दीन शाह – अनुपम खेर

कश्मीरी पंडित मसले पर भिड़े नसीरुद्दीन शाह – अनुपम खेर

anupam-kher_naseeruddin-shahमुंबई- मोदी सरकार के दो साल पूरे हो चुके हैं। इस मौके पर बॉलीवुड अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने कहा है कि सरकार के बारे में कोई राय बनाने से पहले देशवासियों को सरकार को कुछ और समय देना चाहिए। हालांकि, कुछ किताबों में हो रहे बदलावों से वह भी परेशान हैं। उन्होंने कहा कि सरकार बेवकूफ नहीं है, जो देश को अंधेरों में ढकेल दे।

नसीरुद्दीन शाह ने बॉलीवुड अभिनेता अनुपम खेर पर हमला करते हुए कहा कि जो कभी कश्मीर में रहा ही नहीं वह अचानक एक विस्थापित नागरिक हो गया है और कश्मीरी पंडितों के लिए लड़ रहा है।

बॉलीवुड अभिनेता अनुपम खेर ने कश्मीरी पंडित के मसले पर नसीरुद्दीन शाह के उठाए सवालों पर पलटवार किया है ! खेर ने शनिवार को कहा कि कश्मीरी पंडितों के साथ अन्याय हुआ है और अन्याय के खिलाफ बोलने का हमारा अधिकार है ! उन्होंने कहा कि खुद के कश्मीरी पंडित होने के बारे में हमें किसी से सर्टिफिकेट लेने की जरूरत नहीं है !

वहीँ अनुपम खेर ने इसका जवाब देते हुए कहा कि देश के किसी भी इलाके में जाना और वहां की बातें करन हर नागरिक का मौलिक अधिकार है ! क्या एनआरआई देश के बारे में बातें नहीं कर सकते ! उन्होंने पूछा कि क्या गैर सिख 1984 के दंगों के बारे में बात नहीं कर सकते? खेर ने कहा कि नसीर साहब को सवाल उठाने के बजाय कश्मीरी पंडितों के हक के बारे में बोलना चाहिए था !

हालांकि अनुपम खेर ने नसीरुद्दीन शाह से संपर्क किए जाने की बात कही ! उन्होंने कहा कि मैंने नसीर साहब से कॉन्टैक्ट किया और उन्होंने ऐसे किसी भी बयान देने से इनकार किया है ! वहीं नसीरुद्दीन शाह ने विवाद बढ़ने पर सफाई दी ! उन्होंने कहा कि मुझे जो कहना था, कह दिया. मेरे बयान को गलत तरीके से पेश किया गया है !

नसीरुद्दीन शाह कल अपनी फिल्म ‘वेटिंग’ की रिलीज के मौके पर फिल्म के प्रमोशन के लिए दिल्ली में थे। शाह ने कहा कि उन्हें मोदी सरकार पर पूरा भरोसा है और सरकार से अच्छे काम की उम्मीद है। वे बोले कि अगर उम्मीद ही छोड़ दी जाएगी तो इसका मतलब है कि हम हार गए।

वहीं दूसरी ओर उन्होंने एआईएमआईएम के सांसद असदुद्दीन ओवैसी की ओर इशारा करते हुए कहा कि उन्हें इस बात पर दुख होता है कि ऐसे लोगों के विवादित बयानों की निंदा भी नहीं की जाती है।

उन्होंने कहा- जैसा कि जावेद साहब कहते हैं कि वंदे मातरम और भारत माता की जय कहना हर किसी का अपना हक है। मैं यह तभी कहूंगा जब मेरा मन कहेगा, न कि किसी और के कहने पर। किसी को भी देश प्रति मेरे प्यार पर सवाल उठाने का कोई हक नहीं है।

loading...
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com