EVM hacking claim ईवीएम के लिए सवाल उठाते रहे हैं। अब बसपा अध्यक्ष मायावती ने ईवीएम को हैक किये जाने के एक साइबर विशेषज्ञ के दावे का हवाला देते हुये चुनाव आयोग से अगला लोकसभा चुनाव मतपत्र से ही कराये जाने की मांग की है।

चुनावों में बीजेपी की रिकॉर्ड सफलता और पूर्ण बहुमत की सरकार बनने के बाद से ही लगातार ईवीएम पर सवाल उठाए जा रहे हैं। कांग्रेस के अलावा आप के केजरीवाल भी लगातार ईवीएम के लिए सवाल उठाते रहे हैं।

अब बसपा अध्यक्ष मायावती ने ईवीएम को हैक किये जाने के एक साइबर विशेषज्ञ के दावे का हवाला देते हुये चुनाव आयोग से अगला लोकसभा चुनाव मतपत्र से ही कराये जाने की मांग की है।

मंगलवार को जारी बयान में मायावती ने कहा कि लंदन में एक साइबर विशेषज्ञ द्वारा यह दावा करना कि 2014 में लोकसभा चुनाव के अलावा उत्तर प्रदेश, गुजरात आदि राज्यों के पिछले विधानसभा चुनावों में ईवीएम के जरिये जबरदस्त धांधली की गई थी, ईवीएम धांधली पर जारी विवाद को और भी ज्यादा गंभीर बनाता है।

उन्होंने लोकतंत्र के व्यापक हित में ईवीएम विवाद पर तत्काल समुचित ध्यान देने की जरूरत व्यक्त करते हुये कहा कि वोट हमारा राज तुम्हारा, नहीं चलेगा, इसलिये जनता की इस आशंका का समय पर संतोषजनक समाधान होना जरूरी है।

बता दें कि पिछले दिनों बंगाल में जो महागठबंधन की रैली हुई थी उसमें भी कश्मीर के फारुख अब्दुला ने ईवीएम पर सवालिया निशान लगाया था। उन्होंने कहा था कि यह ईवीएम मशीन नहीं है यह चोर मशीन है। चुनावों में इसका प्रयोग नहीं होना चाहिए।