नोकिया एक बार फिर मोबाइल हैंडसेट्स की डिजाइनिंग और लाइसेंसिंग शुरू करने की योजना बना रही है। यदि कंपनी की पार्टनर माइक्रोसॉफ्ट के साथ करार इसकी अनुमति देती है तो साल 2016 तक नोकिया हैंडसेट बिजनेस में दोबारा उतरेगी।

नोकिया के सीईओ राजीव सूरी ने जर्मनी की मैनेजर मैगजीन से कहा, ‘हम उपयुक्त पार्टनर्स की तलाश करेंगे।’ उन्होंने कहा कि माइक्रोसॉफ्ट मोबाइल फोन बनाती है। नोकिया बस उन्हें डिजाइन करेगी और उसके बाद लाइसेंस के लिए ब्रांड नाम उपलब्ध कराया जाएगा।

कुछ साल पहले तक नोकिया मोबाइल फोन बनाने वाली दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी थी। लेकिन, बाद में धीरे-धीरे उसकी बाजार हिस्सेदारी कम होती गई और अंततः फिनलैंड की इस कंपनी ने साल 2014 में अपना फोन बिजनेस माइक्रोसॉफ्ट को बेच दिया।

माइक्रोसॉफ्ट के साथ सौदे के कुछ ही महीने बाद नोकिया ने एक शानदार टैबलेट कंप्यूटर (न्यू ब्रांड-लाइसेंस के तहत) पेश किया, जिसमें ताइवान की कांट्रैक्ट मैन्युफैक्चरर फॉक्सकॉन की मदद ली। इसी व्यवस्था के तहत कंपनी दूसरे गैजेट भी बाजार में उतारना चाहती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here