Home > Business > ‘विक्स एक्शन 500 एक्स्ट्रा’ बंद, 344 दवाओं पर प्रतिबंध

‘विक्स एक्शन 500 एक्स्ट्रा’ बंद, 344 दवाओं पर प्रतिबंध

Vicks Action 500 Extraनई दिल्ली- एफएमसीजी फर्म प्रॉक्टर एंड गैंबल (पीएंडजी) ने सरकार के आदेश के बाद विक्स एक्शन 500 एक्स्ट्रा को बंद करने का फैसला लिया है। कंपनी ने एक बयान जारी कर इसकी पुष्टि की है। फार्मा क्षेत्र की प्रमुख कंपनी फाइजर ने सरकार की तरफ से प्रतिबंधित खांसी की लोकप्रिय दवा कोरेक्स का निर्माण और इसकी बिक्री तुरंत प्रभाव से बंद करने के बाद विक्स के निर्माण और बिक्री पर भी रोक लगा दी है।

कंपनी ने बंबई शेयर बाजार को बताया कि भारत सरकार ने पैरासिटामोल, फेनिलेफ्राइन और कैफीन की निश्चित खुराक के मिश्रण वाली दवाओं पर तुरंत प्रभाव से प्रतिबंध लगा दिया है। कंपनी ने कहा कि हमारा उत्पाद ‘विक्स एक्शन 500 एक्स्ट्रा’ अधिसूचना के दायरे में आता है। हमने विक्स एक्शन 500 एक्स्ट्रा का विनिर्माण और इसकी बिक्री तुरंत प्रभाव से बंद कर दी है। कल प्रमुख दवा कंपनियों फाइजर और अबॉट ने अपनी खांसी की लोकप्रिय दवा, कोरेक्स और फेंसेडिल की बिक्री बंद कर दी थी।

सरकार ने क्लोफेनिरामाइन मेलियट और कोडीन सीरप के निश्चित मात्रा में मिश्रण पर प्रतिबंध लगा दिया था। दोनों कंपनियां अब दोबारा बाजार में प्रोडक्ट की वापसी के सभी विकल्पों पर विचार कर रही हैं। दवाओं के बैन होने से दोनों कंपनियों के राजस्व में भी भारी नुकसान होने की आशंका है।

ज्ञात हो कि स्वास्थ्य मंत्रालय ने 344 फिक्स्ड डोज कॉम्बिनेशन (एफडीसी) दवाओं के उत्पादन और ब्रिकी पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा दिया है ! फिक्स्ड डोज कॉम्बिनेशन दवाएं वह होती हैं, जो दो या इससे अधिक दवाओं को मिलाकर बनाई जाती है !

केंद्र सरकार ने कहा है कि इन दवाओं मानव सेहत को जोखिम है ! इसके सुरक्षित विकल्प मौजूद हैं ! स्वास्थ्य मंत्रालय के एक अफसर ने बताया, ‘हमने उपलब्ध श्रेष्ठ वैज्ञानिकों से इनके प्रभावों का अध्ययन कराकर इस मसले पर निष्पक्षता बरतने की कोशिश की है !’

उन्होंने बताया, ‘एफडीसी दवाएं बनाने वाले कंपनियों को कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया है ! विशेषज्ञ समिति की सिफारिशें सौंप दिए जाने के बाद उन्हें अपना पक्ष रखने के लिए समय दिया गया है ! उनमें से कुछ ने अभी तक जबाव देने की भी जहमत नहीं उठाई ! हर किसी को पर्याप्त मौका दिया गया !’

स्वास्थ्य मंत्रालय का आदेश शुक्रवार से ही लागू हो गया था ! गजट नोटिफिकेशन सोमवार को प्रकाशित हुआ है ! मंत्रालय द्वारा सभी प्रतिबंधित दवाओं की सूची जल्द ही उपलब्ध कराई जाएगी !

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com