Home > India News > बुलंदशहर हिंसा : गोकशी की FIR पर मचा बवाल, आरोपियों मे 2 नाबालिग

बुलंदशहर हिंसा : गोकशी की FIR पर मचा बवाल, आरोपियों मे 2 नाबालिग

 

बुलंदशहर : बुलंदशहर में गोहत्‍या के शक में की गई हिंसा और हत्‍या का मामला अभी सुलझा नहीं था कि गोकशी में बजरंग दल के जिला संयोजक योगेश राज की ओर से दर्ज कराई गई FIR पर बवाल मच गचा है।

परिवार कहना है कि योगेश राज के दबाव में पुलिस ने दो नाबालिगों के नाम FIR में दर्ज कर लिए हैं। उधर, पुलिस अधिकारी अभी इस मामले में कुछ भी बोलने से बच रहे हैं।

बता दें कि पुलिस ने योगेश राज की शिकायत पर सोमवार को 7 गोकशों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था।

योगेश राज ने सोमवार को स्‍याना पुलिस को तहरीर देकर बताया था कि वह अपने कुछ साथियों के साथ सोमवार सुबह करीब नौ बजे गांव महाब के जंगलों में घूम रहा था।

इसी दौरान उसने नयाबांस के आरोपी गोतस्‍कर सुदैफ चौधरी, इलियास, शराफत, परवेज, (दो नाबालिग) और सरफुद्दीन को गोवंशों को कत्ल करते हुए देखा।

इसके बाद उन्‍होंने शोर मचा दिया और आरोपी भाग निकले। पुलिस ने योगेश राज की शिकायत पर सात लोगों के खिलाफ FIR दर्ज कर लिया।

उधर, एक नाबालिग बच्चे के पिता का कहना है कि उनको पुलिस थाने ले गई है और परेशान कर रही है।

पुलिस ने बताया कि उनके बेटे के खिलाफ गोकशी में FIR दर्ज हुई है। आरोपी बच्‍चे के पिता ने बताया कि इस मामले में दूसरा नाबालिग आरोपी उनका भतीजा है।

उन्‍होंने बताया कि दोनों की उम्र क्रमश: 11 और 12 साल है। पुलिस उन्‍हें परेशान कर रही है। 4 घंटे तक उन्‍हें थाने में बैठाया रखा जबकि उनके बच्चे बेकसूर हैं।

आरोपी बच्‍चे के पिता ने कहा कि उनके बेटे के नाम का ही एक और बच्‍चा गांव में है जिसकी उम्र उनके बेटे से भी कम है।

उन्‍होंने दोनों बच्‍चे का आधार कार्ड भी दिखाया है। उधर, इस मामले में सयाना पुलिस कुछ भी कहने से बच रही है। उसका कहना की जांच के बाद ही सही बात सामने आएगी।

इस कथित गोकशी की शिकायत के बाद सैंकड़ों लोग सड़क पर आ गए और विरोध प्रदर्शन करने लगे। योगेश राज ने इनका नेतृत्‍व किया।

स्‍याना कोतवाली के प्रभारी सुबोध कुमार सिंह ने उसे समझाने की कोशिश की लेकिन वह नहीं माना। इसके बाद पुलिस ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए बल प्रयोग किया। इस पर भीड़ हिंसक हो गई और इसी दौरान किसी ने गोली मारकर सुबोध कुमार की हत्‍या कर दी।

गौरतलब है कि योगेश राज पहले एक प्राइवेट नौकरी करता था। 2016 में योगेश बजरंग दल का जिला संयोजक बना।

उसके बाद नौकरी छोड़कर पूरी तरह संगठन के लिए काम करने लगा। योगेश राज ने सोमवार को हिंसक भीड़ की अगुआई की थी। यह स्याना के नयाबांस गांव का रहने वाला है और पहले भी कई विवादों में इसका नाम आ चुका है।

पुलिस ने उसके खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 148, 149, 307, 302, 333, 353, 427, 436, 394 के तहत मामला दर्ज किया है।

पुलिस एफआईआर के अनुसार योगेश राज अपने साथियों के साथ मिलकर भीड़ को भड़का रहा था।

Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com