Home > India News > राहुल गांधी समेत अन्य नेताओं को बैरंग वापस लौटाया, केंद्र सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

राहुल गांधी समेत अन्य नेताओं को बैरंग वापस लौटाया, केंद्र सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

जम्मू और कश्मीर से अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35ए हटाए जाने के बाद विपक्षी नेताओं के एक प्रतिनिधमंडल संग पहली बार श्रीनगर पहुंचे कांग्रेस नेता राहुल गांधी को बैरंग वापस लौटना पड़ा।

राहुल गांधी और विपक्षी नेताओं के प्रतिनिधिमंडल ने कश्मीर घाटी में लोगों से मिलने और स्थिति का आकलन करने के लिए शनिवार को श्रीनगर का दौरा करने का प्रयास किया और उन्हें श्रीनगर अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे से वापस भेज दिया गया।

केंद्र द्वारा जम्मू और कश्मीर को विशेष दर्जा वापस लेने के बाद 5 अगस्त से जम्मू-कश्मीर में प्रतिबंध लागू हैं। प्रतिनिधिमंडल में कांग्रेस, CPI-M, CPI, RJD, NCP, TMC और DMK के नेता शामिल थे।

श्रीनगर के लिए उड़ान भरने वाले नेताओं में राहुल गांधी, गुलाम नबी आजाद और आनंद शर्मा थे।

सीपीआई-एम के सीताराम येचुरी, सीपीआई के डी राजा, डीएमके के तिरुचि शिवा, आरजेडी के मनोज झा और टीएमसी के दिनेश त्रिवेदी भी प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा थे, जो दिल्ली हवाई अड्डे से दोपहर बाद श्रीनगर के लिए रवाना हुए थे।

प्रतिनिधमंडल को वापस लौटाए जाने पर कांग्रेस ने ट्वीट किया। कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर की स्थिति को लेकर कांग्रेस ने केंद्र पर निशाना साधा, पूछा कि अगर जम्मू कश्मीर में स्थिति ‘सामान्य’ है तो मोदी सरकार क्या छिपाने की कोशिश कर रही है?

कांग्रेस के आधिकारिक अकाउंट से ट्वीट किया गया कि ‘यदि सरकार के दावे के अनुसार जम्मू-कश्मीर की स्थिति “सामान्य” है, तो श्री राहुल गांधी के नेतृत्व में विपक्षी नेताओं के प्रतिनिधिमंडल को श्रीनगर हवाई अड्डे से वापस क्यों भेजा गया है? मोदी सरकार क्या छिपाने की कोशिश कर रही है?’

कांग्रेस ने ट्वीट किया – श्रीनगर पुलिस द्वारा मीडियाकर्मियों से आक्रामक रूप से पेश आने और उनको विपक्षी नेताओं के प्रतिनिधिमंडल से मिलने से रोकने की खबरें आ रही है। हम मीडिया के खिलाफ अपनाए गए कठोर रवैये की कड़ी निंदा करते हैं।

वहीं प्रतिनिधिमंडल को एयरपोर्ट से लौटाने पर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि ‘राज्यपाल कहते कुछ है और करते कुछ और ही हैं।

उन्होंने कहा कि अजीब बात राज्यपाल कश्मीर बुलाते है, विपक्ष कश्मीर के लोगो से मिलकर समस्या का निदान निकालने के जाता, लेकिन एयरपोर्ट से ही सब को लौटा दिया जाता है।

उन्होंने कहा कि यह उम्मीद सत्यपाल मलिक से नही थी, वैसे ऐसे संस्कार उनमें नही रहे, मगर फिर भी उन्होंने ऐसा क्यों किया समझ नही आता।’

Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com