पीयूष गोयल का दावा, भारतीय रेलवे बनेगा दुनिया का पहला कार्बन उत्सर्जन मुक्त रेल नेटवर्क

नई दिल्लीः आगामी तीन से चार वर्षों में भारतीय रेलवे का विद्युतीकरण पूरा कर लिया जाएगा। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने यह दावा किया है। इसकी जानकारी पीयूष गोयल ने ट्वीट कर दी। ट्वीट के जरिए पर योजना का एलान करते हुए पीयूष गोयल ने कहा कि, ‘एक बेहतर, प्रदूषण रहित भविष्य के लिए रेलवे विद्युतीकरण को लगातार बढ़ा रही है।’

इसके साथ ही उन्होंने अपने ट्वीट पर लिखा कि, ‘अगले 3 – 4 वर्षों में सम्पूर्ण रेलवे के विद्युतीकरण का लक्ष्य रखा गया है, जिससे यह विश्व की पहले कार्बन उत्सर्जन मुक्त रेलवे बनेगी, साथ ही अपनी आवश्यकता के लिए रेलवे सौर ऊर्जा का उत्पादन भी कर रही है।’

यानी इस कदम के बाद भारतीय रेलवे जल्द दुनिया का पहला कार्बन उत्सर्जन मुक्त रेल नेटवर्क बन जाएगा। ऊर्जा की आवश्यक्ताओं के लिए रेलवे सोलर एनर्जी के उत्पादन पर काम कर रहा है। बता दें कि पहले भी रेल मंत्री ने एक कार्यक्रम में दावा किया था कि वे 2030 तक भारतीय रेलवे को दुनिया का पहला कार्बन उत्सर्जन मुक्त नेटवर्क बनाएंगे।

सरकार पुराने कोयला संयंत्र को खत्म करने का काम कर रही है। इसकी खास बात ये है कि इससे प्रदूषण को खत्म करने में मदद मिलेगी। जलवायु परिवर्तन के खतरों से निपटने के लिए विद्युतीकरण पर जोर दिया जा रहा है।