बुरहानपुर- वन संस्कार अभियान ने बुरहानपुर में पौधारोपण से आम जनता को जोड़ा। झांझर, कुंडी भंडारा, रेणुका माता रोड, फोफनार, धामनगांव, इच्छापुर, लालबाग रोड सहित नगर के हर डगर को केवल वृक्षारोपण नहीं वरन् वन (पेड़) को हमने संस्कार स्वरूप में जिया। मटका आधारित सिंचाई से पौधे को वृक्ष बनाने तक वन संस्कार अभियान को हमें अपने बुरहानपुर की पहचान बनाना है।

यह बात क्षेत्र की जागरूक विधायक अर्चना चिटनीस (दीदी) ने वन मंडल बुरहानपुर द्वारा पर्यावरण वानिकी वृक्षारोपण शुभारंभ समारोह को संबोधित करते हुए कही। वन संस्कार 2015 अंतर्गत संबोधित करते हुए श्रीमती चिटनीस ने कहा कि बुरहानपुर में 6 वर्ष पूर्व पौधा लगाने की बात पर कही सघन बस्ती का तर्क तो कही हंसी का पात्र बनने जैसी परिस्थितियां थी। किन्तु इन 6 वर्षो में पौधारोपण जन-जन से जुड़ा कार्यक्रम बन चुका है।

कुछ लोग जो सघन बस्ती में पेड़ कहा लगाए इस प्रकार की बातें किया करते थे उन्हें हर गली और मोहल्ले में मटके से सिंचाई करने वाली व्यवस्था पर आधारित पौधारोपण आज वृक्ष स्वरूप में देखने को मिल सकता है। बुरहानपुर जो गली और गर्द के लिए जाना जाता था अब हरियाली और वृक्षारोपण के लिए पहचान बनाने लगा है। पेड़ अपने समाज में कही पूजा तो कही अर्थव्यवस्था से जुड़ा हुआ है। महिलाएं अपने सुहाग की रक्षा के लिए पेड़ की परिक्रमा करती है और वट सावित्री पर वट वृक्ष की पूजा का वैज्ञानिक महत्व भी है। श्रीमती चिटनीस ने कहा कि पौधा केवल पानी देने से पेड़ नहीं बन सकता। पौधे को प्यार से और लगातार देखरेख करके खाद-पानी देकर पेड़ का स्वरूप लेते हुए देखा जा सकता है। बिना प्यार और बिना चिंता किए पौधा कभी पेड़ नहीं बन सकता।

श्रीमती चिटनीस ने कहा कि पेड़ अर्थात् प्रकृति ही है। प्रकृति ने हमें इतना अधिक दिया है जिसकी अंश मात्र ही भरपाई हम करना चाहे तो पौधे को पेड़ स्वरूप दिलाकर पौधारोपण और पर्यावरण को संरक्षित करके ही अपना दायित्व निभा सकते है। इस अवसर पर कार्यक्रम में उपस्थित सामाजिक संगठनों गायत्री परिवार, माईक्रो विजन एकेडमी, रोटरी क्लब, स्वाध्याय परिवार, भाजपा महिला मोर्चा, प्रगतिशील किसान संगठन, सिंधी युवा सभा, झूलेलाल उत्सव समिति, इंदिरा काॅलोनी साईं बाबा मंदिर आदि क्षेत्र के पर्यावरण प्रेमियों से श्रीमती चिटनीस ने अपने-अपने क्षेत्र और संगठन के माध्यम से पौधे लगाकर उनकी सुरक्षा के लिए संकल्प का आव्हान किया। जिस पर गायत्री परिवार ने मां भगवती परिसर, माईक्रो विजन ने रेणुका माता मंदिर रोड एवं परिसर, रामदेव बाबा (पतंजलि योग समिति) द्वारा 3 हजार पौधे, नारायण नगर गृह निर्माण समिति द्वारा ब्रजधाम एवं चिंचाला शमशानघाट, वारोली, भोटा, दापोरा, बंभाड़ा, शाहपुर क्षेत्र के सामाजिक कार्यकर्ताओं ने अपने-अपने क्षेत्र में 500-500 पौधे लगाने की कार्ययोजना बनाकर इनकी सुरक्षा और संरक्षण के लिए मंच को आश्वासन दिया।

कलेक्टर श्रीमती जे.पी.आईरिन सिंथिया, वन मंडलाधिकारी श्री कनेश एवं जिला पुलिस अधीक्षक अनिलसिंह कुशवाह ने अपने-अपने उद्बोधन में कहा कि बुरहानपुर की जनता का पौधारोपण और पर्यावरण के प्रति रूचि व भागीदारी की बातें सुनी थी। किन्तु आज इस विषाल समारोह में उपस्थिति से हम आषांवित और उत्साह के साथ स्थानीय विधायक के प्रयासों में प्रषासनिक सहयोग का विष्वास दिलाते है।

पर्यावरण के लिए पौधे लगाना ही नहीं उन्हें वृक्ष बनाने तक संभालना भी हमारी ही जिम्मेदारी है। इसी जिम्मेदारी को पूरा करके हम पर्यावरण ही नहीं जल संवर्धन को भी बढ़ा सकेंगे।
कार्यक्रम में लगभग 1 हजार प्रबुद्ध नागरिक और 100 से अधिक सामाजिक संगठनों ने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ एक स्वर में वन संस्कार अभियान का संकल्प वाचन कर बुरहानपुर को हरा-भरा बनाने हेतु अपनी कटिबद्धता को दोहराया। इस अवसर पर रतनलाल हंसानंदानी, महापौर अनिल भोंसले, नगर निगमाध्यक्ष मनोज तारवाला, जनपद पंचायत अध्यक्ष किषोर पाटिल, श्रीमती मधु चैहान सहित पार्षदगण, समाजसेवी संगठनों के प्रमुख, पर्यावरण प्रेमी एवं अधिकारीगण उपस्थित रहे।

रिपोर्ट:- राहत बेग मिर्जा

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here