श्रीराम को भूल मस्जिद से ‘इश्क’ करने लगे हैं मोदी – तोगड़िया

0
20


डा. प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी श्रीराम को भूल गए हैं और इंदौर में मस्जिद से इश्क कर बैठे हैं। जनता ने उन्हें अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनाने के लिए प्रधानमंत्री के रूप में वकील बनाकर भेजा था, लेकिन वह ट्रिपल तलाक के अधिवक्ता बन गए।

वह सहारनपुर में दिल्ली रोड स्थित सभागार में आयोजित अयोध्या में श्री राम मंदिर बनाने के लिए हस्ताक्षर कार्यक्रम में राष्ट्रीय अध्यक्ष डा. प्रवीण तोगड़िया हिस्सा ले रहे थे।

कार्यकर्ताओं ने श्री राम दरबार भेंटकर उनका स्वागत किया। पत्रकार वार्ता में तोगड़िया ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने भाजपा का कांग्रेसी करण कर दिया है। उत्तराखंड सरकार में ज्यादातर मंत्री उन्हें बनाया गया है, जो कांग्रेस छोड़कर आए थे। असम में 11 में से दस मंत्री पूर्व के कांग्रेसी हैं। भाजपा कांग्रेसी विचारधारा वाली पार्टी बन गई है।

साढ़े चार साल के कार्यकाल में प्रधानमंत्री मोदी अयोध्या में भव्य श्री राम मंदिर बनाने के लिए कानून नहीं बना पाए। मंदिर की बात आती है तो उन्हें सुप्रीम कोर्ट याद आती और एससीएसटी एक्ट की बात हो तो संसद में कानून पास कर दिया जाता है।

उन्होंने कहा कि मोदी श्रीराम को भूल गए और किसान, मजदूर, व्यापारी, उद्यमियों को रामभरोसे छोड़ दिया। प्रधानमंत्री को अब धारा 370 याद नहीं आती हैं। महंगाई ने जनता का हाल बेहाल कर दिया है, लेकिन प्रधानमंत्री को इससे कोई सरोकार नहीं है।

उनके पास विदेशों में घूमने का समय है, मगर देश की जनता के लिए समय नहीं है। 2019 के लोकसभा चुनाव में अयोध्या में राम मंदिर बनाने और हिंदुत्व को साथ लेकर चलने वाली सरकार बनेगी।

इस सरकार के नेतृत्व पर उन्होंने कहा कि देश कोई भी नागरिक इस सरकार का नेतृत्व कर सकता है। 21 अक्टूबर को लखनऊ से अयोध्या तक राम मंदिर बनाने के साथ संकल्प यात्रा निकाली जाएगी।