भाजपा के लिये सत्ता लोगों की सेवा का माध्यम – PM मोदी

पीएम मोदी ने कहा, जनसंघ और बीजेपी के जन्म का मूलतः उद्देश्य ही यही था कि हमारा देश सुखी कैसे बने, समृद्ध कैसे बने। इसी मूल प्रेरणा के साथ, भारतीयता की प्रेरणा के साथ, सेवा की भावना के साथ हम राजनीति में आये। हम लोगों ने राजनीति में सत्ता को सेवा का माध्यम माना।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा कोरोना महामारी के समय में देशभर में चलाए जा रहे राहत कार्यों की समीक्षा की और कार्यकर्ताओं का उत्साह बढ़ाया।

उन्होंने कहा कि कोविड-19 संकट के बीच इतने लंबे समय तक भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा किया गया राष्ट्रव्यापी कल्याण कार्य इतिहास का सबसे बड़ा ”सेवा यज्ञ” है।

प्रधानमंत्री ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि भाजपा के लिये सत्ता लोगों की सेवा का माध्यम है। कार्यकर्ताओं के लिए अपने संबोधन की शुरुआत करते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘भाजपा के सेवा कार्यक्रमों की इतनी बड़ी व्यापकता, इतनी बड़ी विविधता, इतने बड़े स्केल पर, इतने लंबे समय तक सेवा, मुझे लगता है कि ये मानव इतिहास का सबसे बड़ा सेवा यज्ञ है। कोरोना की लड़ाई में इस सेवा यज्ञ ने बहुत बड़ी ताकत दी है। एक राजनीतिक दल के रूप में आपने जो काम किया, उसके लिए आप बधाई के पात्र हैं।

समाज की अन्य संगठनों ने भी अच्छा काम किया है, वे भी अभिनंदन के अधिकारी हैं। एक ऐसे समय में जब दुनिया में सब अपने आपको बचाने में लगे हों, आप सबने अपनी चिंता छोड़कर खुद को गरीबों, जरूरतमंदों की सेवा में समर्पित कर दिया है। ये सेवा का बहुत बड़ा उदाहरण है।’

पीएम मोदी ने कहा, ‘जनसंघ और बीजेपी के जन्म का मूलतः उद्देश्य ही यही था कि हमारा देश सुखी कैसे बने, समृद्ध कैसे बने। इसी मूल प्रेरणा के साथ, भारतीयता की प्रेरणा के साथ, सेवा की भावना के साथ हम राजनीति में आये। हम लोगों ने राजनीति में सत्ता को सेवा का माध्यम माना। हमने कभी भी सत्ता को अपने लाभ का माध्यम नहीं बनाया। निःस्वार्थ सेवा ही हमारा संकल्प रहा है, हमारे संस्कार रहे हैं। जिसकी हम सेवा करते हैं, उसका सुख ही हमारा संतोष है। इसी भावना से गरीबों के प्रति, इसी समभाव और ममभाव से हमारे कार्यकर्ताओं ने इतने कठिन समय में सेवा ही संगठन का इतना बड़ा अभियान चलाया।’

उन्होंने कहा, ‘जिस पार्टी के इतने सांसद हों, हजारों विधायक हों, फिर भी वो पार्टी और उसका कार्यकर्ता सेवा को प्राथमिकता दे, सेवा को ही अपना जीवन मंत्र माने, भाजपा के कार्यकर्ता के नाते मुझे बहुत गर्व होता है कि हम सब ऐसे संगठन के सदस्य हैं। हमारे लिए हमारा संगठन चुनाव जीतने की सिर्फ मशीन नहीं है, हमारे लिए हमारा संगठन का मतलब है ‘सेवा’। हमारे लिए हमारे संगठन का मतलब है- ‘सबका साथ’। हमारे लिए हमारे संगठन का मतलब है- ‘सबका सुख, सबकी समृद्धि’। हमारा संगठन समाज हित के लिए काम करने वाला है।

‘हमारे समाज में दूसरों के लिए कुछ करने की, सेवा भाव की बहुत बड़ी ताकत है। हमें समाज की इस ताकत को पूजने का कोई अवसर छोड़ना नहीं चाहिए। आपको संतोष होना चाहिए कि समाज ने हम सबको इस काम के लिए चुना है। सेवा करने के लिए ईश्वर ने हमें राह दिखाई है।

भाजपा के प्रत्येक कार्यकर्ता को अपने साथ- Seven ‘S’ की शक्ति लेकर आगे बढ़ना चाहिए। 1- सेवाभाव, 2- संतुलन, 3- संयम, 4- समन्वय, 5- सकारात्मकता, 6- सद्भावना, 7- संवाद। इन दिनों इस कोरोना की लड़ाई में भरपूर रूप से इसका प्रभाव दिखाई दिया है।’