पीएम मोदी ने की घोषणा, अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के ट्रस्ट का नाम होगा ‘श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र’

लोकसभा में पीएम मोदी ने कहा कि ये विषय श्रीराम जन्म भूमि से जुड़ा हुआ है। ये विषय है अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर से जुड़ा हुआ है। करोड़ों देशवासियों की तरह ही मेरे हृदय के करीब है इस विषय पर बात करना मैं अपना सौभाग्य समझता हूं। पीएम मोदी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के अनुसार एक स्वायत्त ट्रस्ट ‘श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र’ का गठन करने का प्रस्ताव पारित किया गया है।

नई दिल्ली : मोदी कैबिनेट में आज राम मंदिर ट्रस्ट के गठन को मंजूरी मिल गई। पीएम नरेंद्र मोदी ने लोकसभा में अपने संबोधन के दौरान अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट के नाम का ऐलान किया। पीएम मोदी ने कहा कि ‘श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र’ नाम से ये ट्रस्ट होगा। उन्होंने बताया कि कैबिनेट की बैठक में सरकार ने यह फैसला किया है। बता दें कि ट्रस्ट के गठन को लेकर सुप्रीम कोर्ट द्वारा दी गई डेडलाइन खत्म होने में केवल चार दिन ही शेष थे।

लोकसभा में पीएम मोदी ने कहा कि ये विषय श्रीराम जन्म भूमि से जुड़ा हुआ है। ये विषय है अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर से जुड़ा हुआ है। करोड़ों देशवासियों की तरह ही मेरे हृदय के करीब है इस विषय पर बात करना मैं अपना सौभाग्य समझता हूं। पीएम मोदी ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेशों के अनुसार एक स्वायत्त ट्रस्ट ‘श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र’ का गठन करने का प्रस्ताव पारित किया गया है।

पीएम मोदी ने कहा कि सरकार ने अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर के निर्माण के लिए और इससे संबंधित अन्य विषयों के लिए एक वृहद योजना तैयार की है। ये ट्रस्ट अयोध्या में भगवान श्रीराम की जन्मस्थली पर भव्य और दिव्य श्रीराम मंदिर के निर्माण और उससे जुड़े विषयों पर निर्णय लेने के लिए पूर्ण रूप से स्वतंत्र होगा। पीएम मोदी ने कहा कि 67.3 एकड़ जमीन श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र को दी जाएगी। जबकि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के अनुसार सुन्नी वक्‍फ बोर्ड को 5 एकड़ जमीन दी जाएगी।