Home > State > Delhi > दलितों की पिटाई : गुजरात सरकार को बधाई देने पर हंगामा

दलितों की पिटाई : गुजरात सरकार को बधाई देने पर हंगामा

rajnath-singhनई दिल्ली : गुजरात के उना में दलित उत्पीड़न के मामले को लेकर संसद में हंगामा जारी है। इसी मसले पर केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह ने संसद में अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि इस मामले में गुजरात सरकार ने तेजी से एक्शन लिया, इसके लिए उन्हें बधाई। गुजरात सरकार को बधाई देने पर विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया। विपक्ष का आरोप है कि इस सरकार में दलितों पर अत्याचार की घटनाएं बढ़ रही हैं।

विपक्ष के हंगामे पर राजनाथ सिंह ने कहा, मैं पूरे दिन खड़ा रहूंगा और दो टूक शब्दों में अपनी बात रखूंगा। उन्होंने कहा कि 12 तारीख को विदेश दौरे से वापस आने के बाद पीएम मोदी ने उना की घटना को लेकर मुझसे बात की। वे घटना को लेकर दुखी थे, आहत थे। उन्होंने कार्रवाई के बारे में पूरी जानकारी भी ली।

गुजरात के उना में गौरक्षक दलों की दबंगई से भड़के दलित समुदाय का गुस्सा जहां एक ओर सड़कों पर आ गया है, वहीं राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में इस पर सियासत के सुर तेज हो गए हैं। बुधवार को शून्य काल के दौरान विपक्ष ने संसद के दोनों सदनों में यह मुद्दा उठाया।

पूरी घटना को लेकर लोकसभा में सरकार का पक्ष रखते हुए गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कांग्रेस को घेरते हुए कहा कि देश में कांग्रेस शासनकाल में दलितों पर सबसे ज्यादा अत्याचार हुए। उना की घटना पर राज्य सरकार कार्रवाई कर रही है। हम इस घटना की कड़ी निंदा करते हैं। मामले को लेकर पीएम ने भी संज्ञान लिया है अौर वो इससे दुखी हैं।

अब तक घटना के 9 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है वहीं 2 पुलिस हिरासत में हैं जबकि काम में लापरवाही बरतने वाले 4 पुलिसवाले भी सस्पेंड कर दिए गए हैं। राज्य सरकार ने पीड़‍ितों को मुआवजा देने की घोषणा की है साथ ही उनका इलाज का खर्च भी सरकार उठाएगी। दलितों पर किसी भी सरकार के शासन में अत्‍याचार हों वो दुर्भाग्यपूर्ण हैं। आजादी से लेकर अब तक यह एक समाजिक बुराई बन चुकी है और सबको मिलकर इस बुराई को दूर करना होगा।

गृहमंत्री ने इस दौरान यह भी कहा कि पिछले सालों में देश के विभिन्न राज्यों में जब कांग्रेस का शासन था तब दलितों पर अत्याचार के कई मामले सामने आए।

इससे पहले सोनिया गांधी ने लोकसभा में इस मुद्दे पर बोलते हुए कहा कि केंद्र सरकार ने आदिवासी, दलित और परंपरागत वनवासियों के फॉरेस्ट राइट्स एक्ट 2006 के अंतर्गत अधिकार छीन लिए हैं और पर्यावरण अधिकारों को भी कमजोर किया है। सजा से बचकर एससी, एसटी और अल्पसंख्यकों पर लगातार अत्याचार हो रहे हैं जो शर्मसार करने वाला है।

सोनिया ने आगे कहा कि घाटी में हाल ही में हुई घटनाएं दुखद हैं और देश के सामने गंभीर चुनौती पेश करती हैं। आतंकियों से कठोरता से निपटा जाना चाहिए। साथ ही हमें यह भी जांचना चाहिए कि ऐसी कौन सी बात है जो युवाओं के गुस्‍से को हिंसा के स्तर तक ले जा रही है।

वहीं दूसरी तरफ राज्यभा में भी इस मुद्दे को लेकर विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया और इसके चलते राज्यसभा की कार्यवाही कुछ देर के लिए रोकनी पड़ी।



Facebook Comments

Our News Network and website neither have any collaboration and connection directly nor indirectly with “India Today Group/ITG” ,TV Today Network, Channel Tez TV media group .