नई दिल्ली : पंजाब नेशनल बैंक घोटाले के आरोपी नीरव मोदी और उनके परिवार पर प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) का शिकंजा कस गया है। ईडी ने भारत और चार अन्य देशों में मौजूद मोदी और उसके परिवार की लगभग 637 करोड़ रुपए की संपत्ति को जब्‍त कर लिया है।

बताया जा रहा है कि ईडी ने पीएनबी घोटाला मामले में अपनी जांच का दायरा बढ़ा दिया है। अब ईडी ने नीरव मोदी की विदेश में स्थित 4,000 करोड़ रुपए की संपत्तियों की पहचान की है। सूत्रों की मानें तो इन संपत्तियों में से ही 637 करोड़ की संपत्ति को जब्त किया गया है।

दरअसल, जांच एजेंसी अब संपत्तियों को प्रिवेंशन ऑफ मनी लांड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत जब्त कर रही है। इससे पहले भी केंद्रीय जांच एजेंसी धोखाधड़ी के अन्य मामलों में आस्ट्रेलिया और अमेरिका में संपत्तियों को जब्त कर चुकी है।

अधिकारियों ने बताया कि जांच एजेंसी अब तक कई न्यायिक अनुरोध पत्र (लेटर्स रोगेटरीज) मुंबई की स्थानीय अदालत से जारी करा चुकी है और कइयों को अभी अमेरिका, ब्रिटेन, स्विटजरलैंड, हांगकांग और सिंगापुर जैसे देशों को भेजा जा रहा है।

इससे नीरव मोदी और उसके परिवार के इन देशों में स्थित मकान और विला जैसी अचल संपत्तियों को जब्त किया जा सकेगा। उन्होंने बताया कि विदेश में स्थित इन संपत्तियों का पता लगाने के लिए अधिकारियों की एक विशेष टीम बनाई गई थी।

अधिकारियों से मिली जानकारियों के अनुसार, करीब 4,000 करोड़ रुपए की लगभग दो दर्जन संपत्तियों को संबंधित विदेशी अधिकारियों की मदद से जब्त करने की प्रक्रिया शुरू की जा रही है। विदेश में चिह्नित ये संपत्तियां नीरव मोदी, उसके परिवार के सदस्यों और कुछ मामलों में उसकी बोगस या डमी फर्मो के नाम पर हैं।

माना जा रहा है कि उक्त देशों में नीरव मोदी के कुछ शोरूम्स भी ईडी की रडार पर हैं और उन्हें भी जल्द जब्त किया जा सकता है। बता दें कि जांच एजेंसी अब तक नीरव मोदी और उसके परिवार के सदस्यों की देशभर में करीब 700 करोड़ रुपए की संपत्तियों को जब्त कर चुकी है।