बुलंदशहर : स्याना कोतवाली क्षेत्र में गोवंश के अवशेष मिलने पर कई हिंदू संगठन के लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया।

लोगों ने बुलंदशहर स्याना रोड जामकर पुलिस पर पथराव भी किया। इस दौरान पुलिस इंस्पेक्टर की मौत भी हो गई है। इस मामले की जांच के लिए एसआईटी की गठन किया गया है। यह जानकारी एडीजी कानून व्यवस्था आनंद कुमार ने दी।

इंस्पेक्टर के हमराह सिपाही को भी गोली लगी है। उसकी भी हालत गंभीर बताई जा रही है। गुस्साए लोगों ने पुलिस चौकी के पास खड़ी गाड़ियों को भी आग लगा दी।

इस घटना में कथित रूप से पुलिस की गोली से घायल युवक सुमित आनंद को अस्पताल लाया गया लेकिन उसकी मौत हो चुकी थी।

स्याना कोतवाली क्षेत्र में चिगरवाठी चौकी के महाव में गोक़शी को घटना को लेकर सुबह से हिंदू संगठनों और ग्रामीणों में रोष था।

गोवंशों के अवशेष को ट्रैक्टर-ट्राली में भरकर बजरंग दल और हियुवा के कार्यकर्ताओं ने चिंगरवाठी चौकी के सामने स्टेट हाईवे पर जाम लगाकर हंगामा करना शुरू कर दिया। साथ ही कोतवाल पर अभद्रता का आरोप लगाते हुए जमकर प्रदर्शन किया।

पुलिस के हल्का बल प्रयोग करने पर लोग भड़क गए और पथराव कर दिया। सूत्रों के अनुसार बवाल के दौरान फ़ायरिंग की भी सूचना है। पथराव में कोतवाल समेत चार अन्य पुलिसकर्मी और एक ग्रामीण घायल हो गए।

गंभीर रूप से घायल स्याना कोतवाल सुबोध सिंह को औरंगाबाद सीएचसी लाया गया, जहाँ डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। घटना की सूचना पर डीएम, एसएसपी कई थानों की फ़ोर्स समेत डीआइजी मेरठ ज़ोन भी घटनास्थल पर पहुंच गए।

मृतक इंस्पेक्टर सुबोध कुमार एटा के रहने वाले थे। मेरठ के पल्लवपुरम में भी मृतक इंस्पेक्टर का घर है। इंस्पेक्टर सुबोध सिंह राठौर उम्र (47) गांव तरगवा, थाना जैतरा जिला एटा के रहने वाले थे। मेरठ के मोदीपुरम स्थित मकान को बेचकर कई माह पहले परिवार नोएडा सेक्टर 42 में शिफ्ट हुआ था। मृत इंस्पेक्टर के दो बेटे हैं।।

बवाल को देखते हुए बुलंदशहर में इज्तिमा से लौट रहे हजारों वाहनों को देखते हुए हापुड़ रोड पर फोर्स लगाई गई है। एसपी देहात राजेश कुमार फोर्स के साथ हापुड़ रोड पर तैनात हैं।

एडीजी (कानून व्यवस्था) ने यह कहा

उत्तर प्रदेश के एडीजी कानून व्यवस्था आनंद कुमार ने कहा था कि लोगों ने शिकायत की थी कि मवेशियों का शव खेत में पाया गया है। जिसके बाद पुलिस द्वारा ग्रामीणों को कार्रवाई का आश्वासन दिया गया था।

लेकिन, ग्रामीणों ने एक ट्रैक्टर पर शव लिया और मुख्य सड़क को अवरुद्ध कर दिया। बाद में उन्होंने घटना के विरोध में हिंसा की और पुलिस पर पथराव किया। जिसे रोकने के लिए पुलिस ने लाठी चार्ज किया।

उन्होंने बताया कि पथराव में एक पुलिस अधिकारी की मौत हो गई। जबकि एक स्थानीय व्यक्ति सुमित को अज्ञात लोगों ने गोली मार दी।

जिसे मेरठ स्थित अस्पताल में एडमिट किया गया जहां उसकी मौत हो गई। युवक को किसने गोली मारी इसकी जांच की जा रही है।