Home > India > पुलिस की धमकियों से तंग, किसान ने की आत्महत्या

पुलिस की धमकियों से तंग, किसान ने की आत्महत्या

demo pic

फाजिल्का (पंजाब) : फाजिल्का के गांव शजराना के किसान जसवीर सिंह द्वारा पुलिस की धमकियों से तंग आकर आत्महत्या कर ली गई थी जिसके चलते पुलिस ने 24 घंटे बीतने के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं की और किसान के परिवारिक सदस्य और रिश्तेदारों ने मिलकर कल शाम से शुरू किया धरना जो फाजिल्का के घंटाघर चौक में बिल्कुल जाम लगाकर किया गया था जो आज सुबह तक भी जारी रहा और फिर उन्होंने फैसला लेते हुए इस प्रदर्शन को पंजाब राजस्थान की हाईवे पर धरना लगा दिया गया जिससे आने जाने वाले लोगों को काफी परेशानी हुई जिससे पुलिस प्रशासन ने हरकत में आते हुए सभी पारिवारिक सदस्यों से बात की और पुलिस के एसएचओ बरजिंदर सिंह को लाइन हाजिर कर दिया गया है और जो ASI अमरजीत सिंह का नाम सुसाइड नोट में आया था उसको सस्पेंड कर दिया गया है पुलिस ने परिवारिक मेंबरों द्वारा लिखे गए सात लोगों के नाम पर FIR काटने का आश्वासन देकर धरना कारियो को वहा से उठवाया गया।

इस मामले में अकाली दल के सुप्रीमो सुखबीर सिंह बादल के ओएसडी रह चुके सतींदरजीत सिंह मंटा भी देर रात तक इस धरने में बैठे रहे और उन्होंने मीडिया से बात करते हुए कहा कि प्रशासन को कानून के अनुसार बनती कार्यवाही करनी चाहिए और अगर इन्हे इन्साफ ना मिला तो हमारा अकाली दल जिला फाजिल्का भी इस मामले को लेकर संघर्ष का रास्ता चुन सकता है

पुलिस ने किसान के परिवारिक सदस्य के दबाव के चलते अपने ही मुलाजिमों पर अब मामला दर्ज कर लिया है जिसके बारे में पुलिस के एस पी एच जसविंदर सिंह घारू ने बताते हुए कहा के एसएचओ बरजिंदर सिंह को लाइन हाजिर कर दिया गया है और जो ASI अमरजीत सिंह को सस्पेंड कर दिया गया है और सुसाईड नोट में शामिल सभी लोगो के खिलाफ मामला दर्ज किया जा रहा है तो परिवारिक मेंबर ने धरना वहां से उठा लिया है और मृतक जसवीर सिंह का पोस्टमार्टम फरीदकोट के मेडिकल हॉस्पिटल में आज करवाया जाएगा और आने वाली रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्यवाही की जाएगी।

मृतक के भाई ने कहा कहा कि पुलिस अगर हमें पुलिस इंसाफ नहीं देगी तो हम इसी तरह धरने पर बैठे रहेंगे। इस धरने के दौरान मतृक के घर वाले सदस्यों ने पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

रिपोर्ट@ इंद्रजीत सिंघ

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com