demo pic
demo pic

गोरखपुर- आरपीएफ के व्हाट्सएप ग्रूप में पोर्न वीडियो के आने का मामला सामने आया है ! आरपीएफ की महिला कर्मीं भी इस ग्रूप में थीं जिनकी आपत्ति पर आनन-फानन पहले क्लिप डिलीट की गई, फिर ग्रुप भी खत्म कर दिया गया। इस बीच मसला अफसरों तक पहुंच जाने से शक के दायरे में आए सिपाही पर कार्रवाई तय मानी जा रही है।

जीहां आरपीएफ पोस्ट के दरोगा-सिपाहियों के बीच सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिए बनाए गए व्हाट्स एप ग्रुप पर पोर्न वीडियो लोड होने से अफरा-तफरी मच गई।

ट्विटर पर रेल मंत्री के मुसाफिरों को सुनने और उनकी समस्याओं का निदान कराने की पहल से प्रेरित होकर रेल महकमे के साथ-साथ रेलवे पुलिस के बीच भी सोशल साइट के जरिए विभागीय संवाद बढ़ाने और लोगों की शिकायतें दूर करने की कोशिशें शुरू हो गई हैं।

काम को प्रभावी बनाने की नीयत से कई आरपीएफ पोस्ट के नेटवर्क के बीच व्हाट्स एप ग्रुप फॉर्म हुआ है। इसी क्रम में गोरखपुर पोस्ट पर तैनात आरपीएफ के दरोगा, सिपाहियों के बीच करीब एक महीने पहले व्हाट्स एप ग्रुप की शुरुआत हुई थी।

विभाग से जुड़ी सूचनाओं के आदान-प्रदान के बीच शनिवार की रात इस पर पोर्न क्लिप लोड कर दी गई। इसे लेकर रविवार सुबह तक ग्रुप के सदस्यों के बीच से ही आपत्तियों की भरमार लग गई, जबकि महिला सिपाहियों के तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करने पर क्लिप डिलीट करने के साथ ग्रुप का अस्तित्व खत्म कर दिया गया। आरपीएफ पोस्ट प्रभारी केएन तिवारी सहित ग्रुप से जुड़े लोगों ने पोर्न क्लिप की बात को अफवाह बताना शुरू कर दिया।

आरपीएफ के डीजी आरआर वर्मा का गोरखपुर दौरा प्रस्तावित होने से सिस्टम को लेकर सतर्क अफसरों तक बात पहुंच जाने से खामोशी से जांच कराई जा रही है। शक के दायरे में आए सिपाही पर कार्रवाई भी तय मानी जा रही है।

जिस व्हाट्स एप ग्रुप पर पोर्न क्लिप लोड होने की बात हो रही है, वो विभागीय ग्रुप नहीं है। दरोगा-सिपाहियों का पर्सनल ग्रुप था। एक सिपाही की चूक से ऐसा होने के संकेत मिले हैं। दोषी के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी।
– अनिरुद्ध चौधरी, सहायक सुरक्षा आयुक्त, आरपीएफ