raped

बिजनौर- उत्तर प्रदेश में बिजनौर में हथियारों से लैस चार बदमाशों ने सोमवार देर शाम बाइक से घर लौट रहे भाई-बहन को गन्ने के खेत में खींच लिया। बदमाशों ने दोनों को तमंचे की बटों से बुरी तरह से पीटा और भाई के सामने ही गर्भवती बहन का रेप किया।

भाई-बहन से गहने और नगदी लूटने के बाद बदमाश उन्हें गन्ने के खेत में छोड़कर फरार हो गए। पीछे से आए दो पुलिसकर्मियों को दोनों ने आपबीती सुनाई तो पुलिसकर्मियों ने उनको जिला अस्पताल या उनके घर ले जाने के बजाए दो घंटे तक अज्ञात स्थान पर बैठाए रखा।

आधी रात को दोनों को बाइक से गांव के बाहर छोड़कर चंपत हो गए। दोनों के कराहने पर गांववालों को मामले का पता चला। ग्रामीणों ने दोनों को मंगलवार को जिला अस्पताल में भर्ती कराया।

क्षेत्र के की एक गांव निवासी युवक सोमवार रात अपनी गर्भवती बहन को उसकी ससुराल से लेकर बाइक से घर लौट रहा था। मंडावर-किरतपुर रोड पर गांव मोहंडिया नहर के पास पीछे से दो बाइकों पर आए चार नकाबपोश बदमाशों ने अपनी बाइक आगे लगाकर भाई बहनों की बाइक रुकवा ली।

बदमाश उनको हथियारों के बल पर गन्ने के खेत में ले गए। वहां पर दोनों को तमंचे व बंदूक की बटों से पीटा और गर्भवती को अपने साथ गन्ने के खेत से आगे आम के बाग में ले जाकर बलात्कार किया। पुलिसकर्मी दोनों को अपने साथ ले गए और दोनों को रिपोर्ट दर्ज न कराने के लिए दो घंटे तक अज्ञात स्थान पर बैठाए रखा। पुलिस द्वारा शुरू में कार्रवाई न करने पर ग्रामीणों ने थाने पर हंगामा किया।

डीएम, एसपी सहित तमाम अधिकारियों ने जिला अस्पताल जाकर भाई-बहनों से आपबीती सुनी। पीड़िता के पिता की ओर से रिपोर्ट दर्ज कराई गई है। वहीं मामले में लापरवाही बरतने पर दरोगा एके बिंदल को सस्पेंड कर दिया गया।

अल्ट्रासाउंड करने वाले कर्मचारी के छुट्टी होने के कारण डीएम ने पीड़िता का अल्ट्रासाउंड जिला अस्पताल से बाहर कराने के निर्देश दिए। साथ ही मेडिकल के लिए दो चिकित्सकों का पैनल गठित किया।

एसपी को गर्भवती के परिजनों ने बलात्कार की घटना की भी तहरीर सौंपी है। गर्भवती की उम्र करीब 22 साल है। वह तीन महीने की गर्भवती बताई जाती है। भाई-बहन के मुताबिक चारों बदमाशों के पास हथियार थे।

वहीं, एसपी सुभाष सिंह बघेल के मुताबिक इस मामले में लूट की रिपोर्ट दर्ज की गई थी, पर डीएम व उन्हें महिला के यह बताने पर कि उसके साथ दुष्कर्म हुआ है, बलात्कार की धारा भी बढ़ा दी गई है। इस केस के खुलासे के लिए पुलिस की चार टीम गठित की है।

मामले में लापरवाही बरतने पर दरोगा एके बिंदल को सस्पेंड कर दिया गया है। पूरे थाने की भूमिका की जांच कराई जा रही है। जो भी दोषी होगा, उसके खिलाफ कार्रवाई होगी।एजेंसी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here