Home > India News > गरीबों की पाई-पाई को लूटने वालों के साथ खड़ी हैं सीएम दीदी: पीएम मोदी

गरीबों की पाई-पाई को लूटने वालों के साथ खड़ी हैं सीएम दीदी: पीएम मोदी

जलपाईगुड़ी : कोलकाता पुलिस बनाम सीबीआई विवाद के बाद एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को ममता बनर्जी के गढ़ पश्चिम बंगाल में पहुंचे। जलपाईगुड़ी में एक रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस, तृणमूल समेत सभी वामदलों को निशाने पर लिया। पीएम मोदी ने ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए कहा कि आज पश्चिम बंगाल में एक ऐसी मुख्यमंत्री हैं जो गरीबों की मेहनत से जुटाई पाई-पाई को लूटने वालों के साथ खड़ी हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘पश्चिम बंगाल में मां, माटी, मानुष के नाम पर जिनको आपने सत्ता दी, जिनको कम्युनिस्टों के कुशासन से मुक्ति दिलाने का जिम्मा दिया। उन्होंने वही खून-खराबे का पॉलिटिकल कल्चर अपना बना लिया है। आज स्थिति है पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री तो दीदी हैं लेकिन दादागिरी किसी और की चल रही है। शासन टीएमसी के जगाई और मधाई चला रहे हैं। टीएमसी की सरकार की तमाम योजनाओं के नाम पर बिचौलियों के अधिकार हैं, दलालों के अधिकार हैं। दीदी दिल्ली जाने के लिए परेशान है, बंगाल के गरीबों और मध्यमवर्ग को सिंडिकेट के गठबंधन से लूटने के लिए छोड़ दिया है।’ इतना ही नहीं, पीएम ने चिटफंड घोटाले में सबूत मिटाने के आरोपी कोलकाता पुलिस कमिश्नर राजीव कुमार का बचाव करने को लेकर ममता बनर्जी पर जमकर अटैक किया।

नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘साथियों आज हर उस व्यक्ति को मोदी से कष्ट है जो पूरी तरह से भ्रष्ट है।’ ट्रिपल तलाक को लेकर कांग्रेस द्वारा दिए गए बयान के बाद मोदी ने उस पलटवार करते हुए कहा, ‘महिला अधिकारों पर झूठ बोलने वाली कांग्रेस ने अपनी असली सच्चाई भी देश के सामने रख दी है। तुष्टिकरण के लिए कांग्रेस किस हद तक जा सकती है। यह उसने कल फिर बता दिया है। कांग्रेस ने अब खुलकर कह दिया है कि वह तीन तलाक पर बन रहे कानून का विरोध करती है।’ उन्होंने कहा, ‘मैं देश की सभी मुस्लिम बहनों-बेटियों को ये भरोसा देना चाहता हूं कि तीन तलाक कानून को हटने नहीं दिया जाएगा। बीजेपी, महिलाओं के अधिकार के लिए, महिलाओं को न्याय के लिए, पूरी तरह प्रतिबद्ध है।’

जलपाईगुड़ी में पीएम मोदी ने कहा, ‘राजीव गांधी के समय, शाह बानो केस में कांग्रेस ने जो गलती की थी, अब वही गुनाह उसने कर दिया है। वह भूल गई है कि तीन तलाक से पीड़ित मुस्लिम महिलाओं को कितने बुरे दौर से गुजरना होता है, कितने संकटों से गुजरना होता है।’

मोदी ने कहा, ‘भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता गुंडागर्दी के इस निजाम से लड़ने के लिए तैयार हैं। देश के इतिहास में पहली बार देखा गया है कि कोई मुख्यमंत्री हजारों गरीब लोगों को लूटने वालों के पक्ष में दिनदहाड़े धरने पर बैठ जाए, लुटेरों की रक्षा के लिए, गरीबों को बर्बाद करने वालों की रक्षा के लिए।’ उन्होंने कहा, ‘मैं सारदा, नारदा, रोजवैली की ठगी का शिकार हर परिवार को विश्वास दिलाने आया हूं कि चौकीदार इनको छोड़ेगा नहीं। चाहे वह लुटेरा हो या लुटेरों का संरक्षक किसी को छोड़ा नहीं जाएगा।’

ममता बनर्जी के गढ़ में पीएम मोदी ने कहा, ‘नॉर्थ बंगाल से मेरा एक खास रिश्ता भी है और यह रिश्ता आपको भी मालूम है, यह रिश्ता चाय का रिश्ता है। आप चाय उगाने वाले हैं और मैं चाय बनाने वाला हूं। यहां की चाय देश और दुनिया बड़े चाव से पीती है। चाय की बात करते हुए ही मेरे मन में यह भी सवाल आता है कि आखिर चायवालों से दीदी को इतनी चिढ़ क्यों है।’

मोदी ने कहा, ‘सिलीगुड़ी म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन के साथ क्या बर्ताव किया जा रहा है। नॉर्थ बंगाल की कानून-व्यवस्था की स्थिति कितनी बद्तर हो चुकी है। यह उद्योग विकसित नहीं किए गए। युवा पलायन के लिए मजबूर हैं। सिंचाई की परियोजनाएं लटकी हुई हैं। ऐसा हाल बनाने के बावजूद उनको कोई परवाह नहीं है। पश्चिम बंगाल की ममता सरकार ने माटी को बदनाम कर दिया है और मानुष को मजबूर कर दिया है, जो पश्चिम बंगाल कला और संस्कृति के लिए जाना जाता था वह हिंसा और अलोकतांत्रिक तरीकों के लिए देश और दुनिया में चर्चा में हैं, बदनामी हो रही है।’

जलपाईगुड़ी में पीएम ने कहा, ‘साथियो, यह हमारा जलपाईगुड़ी, यह पूरा उत्तर बंगाल तीन- टी के लिए चर्चित है। टी (चाय), टिंबर और टूरिजम…इन तीनों को बेरुखी का शिकार होना पड़ा है चाहे कोलकाता में कम्युनिस्टों की सरकार रही हो या कम्युनिस्ट पार्ट-टू यानी टीएमसी की सरकार रही हो। इस पूरे क्षेत्र के संतुलित विकास पर कभी ध्यान नहीं दिया गया। केंद्र की एनडीए सरकार के लिए, भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के लिए यह नीयत भी है और नीति भी। यही कारण है, यहां के बंद पड़े बगानों को हमारी सरकार ने खुलवाया है। चाय बगान में काम करने वाले श्रमिकों के बैंक में खाते खुलवाए हैं।’

जलपाईगुड़ी में पीएम मोदी ने कहा, ‘आज आपकी दशकों पुरानी और एक मांग पूरी हुई है। थोड़ी देर पहले ही कोलकाता हाई कोर्ट की जलपाईगुड़ी खंडपीठ का उद्घाटन किया गया है। यह खंडपीठ इस बात का उदाहरण है कि कांग्रेस हो, तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) हो या फिर वामदल आपकी परेशानियों से इनको कोई लेना-देना नहीं है। यह जो खंडपीठ आज आपको मिली है, इसके लिए कलकत्ता हाई कोर्ट ने करीब 20 साल पहले पहला कदम उठाया था। 13-14 वर्ष पहले कैबिनेट ने इसे मंजूरी भी दे दी थी। इतने पहले मंजूरी के बाद आज आपका सपना साकार हुआ है। यहां संवेदनहीन सरकारों को एहसास ही नहीं कि एक गरीब को छोटे-छोटे केस के लिए कितना परेशान होना पड़ता है। हाई कोर्ट के द्वारा राज्य की सरकारों को लगातार लिखा जाता रहा लेकिन उस विषय को लटकाती रही।’

भाषण की शुरुआत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘साथियों इस क्षेत्र को महादेव भगवान भोलेनाथ का आशीर्वाद प्राप्त है। यह पंचानन बरमा की कर्मस्थली रही है। यह धरती नेपाली भाषा के आदिकवि भानु भक्त आचार्य की भी कर्मस्थली है, जिन्होंने रामायण का संस्कृत से नेपाली भाषा में अनुवाद किया है। मैं हर एक व्यक्तित्व को आदरपूर्वक नमन करता हूं। अब से थोड़ी देर पहले करीब दो हजार करोड़ की लागत से बनने वाले फलाकाता सलसलावाड़ी नैशनल हाइवे की फोरलेन प्रॉजेक्ट का शिलान्यास किया है। जब यह प्रॉजेक्ट पूरा हो जाएगा तो इससे लोगों को काफी लाभ मिलेगा।’

Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com