Home > India > रेलवे का निजीकरण नहीं, मिलेगा रोजगार : मोदी

रेलवे का निजीकरण नहीं, मिलेगा रोजगार : मोदी

narendra modi

वाराणसी- वाराणसी दौरे पर गए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काशी में डीएलडब्लयू के विस्तार की आधारशिला रखी। इस दौरान लोगों को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि रेलवे का निजीकरण नहीं होगा। ये वो धरती है जहां लाल बहादुर शास्त्री ने जन्म लिया था। उन्होंने ‘जय जवान जय किसान’ का नारा देकर देश के अनाज के भंडार भर दिए थे। उसी प्रकार ‘मेक इन इंडिया’ का विकास करेंगे।

मेक इन इंडिया से हम अपने देश की चीजों का निर्माण करेंगे। रक्षा के क्षेत्र मेंहर चीज बाहर से आती है, इसे बदलना है। मोबाइल फोन बाहर से आ रहे हैं। इस सभी परिस्थितियों को बदलने की हम कोशिश कर रहे हैं। रेलवे मेरी 1प्राथमिकता है। इस क्षेत्र में हर चीज बाहर से आती है। रेलवे से हमे देश को आगे बढ़ाना है। रेलवे के अंदर हमे रोजगार के अवसर विकसित करेंगे। मुझे बचपन से रेलवे से लगाव रहा है।

रेलवे यूनिवर्सिटी में पढ़कर लोगों को रोजगार का अवसर मिलेगा। भारत के चार कोने हैं और हम हर कोने में रेलवे यूनिवर्सिटी बनाना चाहते हैं। रेलवे में अभी भी रोजगार की बहुत संभावनाएं हैं। हमें रेलवे के विकास में गरीबों का पैसा नहीं बल्कि धनवान सेठों का पैसा लगाना चाहिए। रेलवे के विकास में अगर मुझे विदेश से मदद मिलती है तो वो लेनी चाहिए और यही काम सरकार करना चाहती है।

आज हमारे रेलवे स्टेशनों की जो हालत है, 12 घंटे काम करने वाले रेलवे कर्मचारी के लिए बैठकर खाना खाने तक की जगह नहीं है। रेलवे के इंतजार में खड़े लोगों के लिए बैठने तक की जगह नहीं है। हम रेलवे को देश के आर्थिक विकास की रीढ़ की हड्डी मानकर चलना चाहते हैं। भारत में रेलवे को यात्रा का सरलतम साधन माना जाता है। पहले भी मैं रेलवे में जाता था और अब भी जाती हूं, लेकिन अब हमें रेलवे में सफाई देखने को मिलती है।

रेलवे का उपयोग देश के विकास में इतना हो सकता है कि इसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती। रेलवे के पास बिजली होती है, बेशक वह कोई भी स्थान हो, ठीक उसी प्रकार पोस्ट आफिस भी गांव-गांव में फैले हैं। अगर वहीं पर दो तीन और कमरे बनवा लिए जाएं, तो वहां पर स्टील डिवलमेंट प्लांट लगाए जा सकते हैं। वहां गांव के बच्चों को सिखाया जा सकता है। इससे हम एक साथ कई चीजों को विकसित कर सकते हैं।

आने वाले समय में इस क्षेत्र में फिर से रोजगार के अवसर खुलेंगे। आजादी के बाद जितना विकास रेलवे में हुआ है, उससे कहीं ज्यादा विकास मुझे करना है। रेलवे से जुड़े सभी अधिकारियों को इसके विकास में योगदान देना चाहिए। -एजेंसी

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com