Home > India News > प्राचार्य पर लगाया शिक्षिका नें बलात्कार का आरोप 

प्राचार्य पर लगाया शिक्षिका नें बलात्कार का आरोप 

खण्डवा : मोघट थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले किशोर नगर की रहने वाली 51 वर्षीय शिक्षिका ने 54 वर्ष के संजय निम्भोलकर प्राचार्य सूरजकुंड उच्चतर माध्यमिक शाला पर बलात्कार करनें के आरोप लगाते हुए मोघट थानें में शिकायत दर्ज कराई.महिला की शिकायत की दस्दीक कर मोघट थानें में संजय निम्भोलकर वर्तमान में प्राचार्य सूरजकुंड उच्चतर माध्यमिक शाला पर बलात्कार करनें सहित अन्य धाराओं में प्रकरण पंजीबद्ध कर लिया है।

महिला नें पुलिस को बताया कि वह एवं उनका पति शिक्षिका के तौर पर पदस्थ हैं। संजय निम्भोलकर जो उनके व उनके पति दोनों से वरिष्ठ शिक्षक हैं वह उसे जानती हैं। कई शासकीय कार्यक्रम में उनकी मुलाकात संजय निम्भोलकर से होती रहती थी.इसी लिहाज से वह संजय को जानती थी।

पीड़िता ने जो तहरीर पुलिस को दी है उसमे उसने बताया हैं कि 18 अगस्त 2015 को वह अपनें घर में अकेली थी,इसी दौरान संजय निम्भोलकर उनके घर आया। घर में आये मेहमान की तरह वह संजय के लिये चाय बनानें किचन में गई। इस दौरान वह संजय के लिए चाय बना रही थी तो संजय ने उन्हें पीछे से आकर दबोच लिया एवं उन्हें खींचते हुए बेडरूम तक ले गया। उसके बाद वह उनके साथ जबरदस्ती करने लगा विरोध करने पर संजय ने उनका गला दबाकर यह कहा कि अगर शोर मचाया तो वह उसे जान से मार देगा। इस दौरान संजय ने उसे जोर से थप्पड़ भी मारा जिसके बाद वह सहम गई एवं संजय ने उससे उसकी मर्जी के विरुद्ध गलत काम किया। इस दौरान उसका नग्न अवस्था में फोटो एवं वीडियो भी बना लिया। नग्न अवस्था में बनाए गए फोटो एवं वीडियो को दिखाकर किसी को बतानें पर उन्हें सोशल मीडिया पर वायरल करनें कि धमकी भी दी।

पीड़ित महिला द्वारा पुलिस को दिए गए बयान के अनुसार लोक लाज के डर से वह पिछले 2 साल से संजय के द्वारा किए गए कुकर्म को किसी को नहीं बता पाई एवं मन ही मन घुटती रही। पिछले 2 साल से संजय उसे ब्लैकमेल कर रहा था।

महिला द्वारा पुलिस को दिए बयान के अनुसार संजय के द्वारा लगातार WhatsApp के माध्यम से उसे परेशान किया जा रहा था जिसके चलते वह भारी मानसिक तनाव में थी। महिला के द्वारा पुलिस को दिए गए बयान के अनुसार, उसकी परेशानी को देख कर उसके परिजनों ने उसकी परेशानी का कारण पूछा तो आखिरकार महिला ने अपने साथ हुई आपबीती एवं संजय द्वारा लगातार ब्लैकमेल करने की बात अपने परिजनों को बता दी जिसके बाद परिजनों के साथ मिलकर मोघट थाने में उसने, संजय निम्भोलकर जो कि वर्तमान में सूरजकुंड माध्यमिक शाला के प्राचार्य के तौर पर पदस्थ हैं की शिकायत दर्ज कराई।

आपको बता दें कि संजय निम्भोलकर का विवादों से पुराना नाता रहा है। जानकारी के अनुसार उस पर बलडी ब्लाक के अंतर्गत आने वाले एक स्कूल की छात्रा ने ठीक इसी प्रकार के आरोप संजय निम्भोलकर पर लगाए थे। इतना ही नहीं जानकारी के अनुसार इसी संजय निम्भोलकर पर खण्डवा डीपीसी के पद पर रहनें के दौरान डीजल फर्जीवाड़े की जाँच भी चलाई गई थी।

इस घटना के सम्बन्ध में संजय का पक्ष लेनें का प्रयास किया गया लेकिन उनका मोबाईल बंद बताया जा रहा है

 

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com