प्रियंका गांधी का दावा- UP में अपराधियों को संरक्षण, क्राइम रेट पर पर्दा डालती है योगी सरकार

प्रियंका गांधी ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार को राज्य की कानून व्यवस्था की स्थिति के बारे में अवगत कराया। कांग्रेस नेता ने कहा कि वर्तमान में राज्य देश की अपराध और हत्या की सूची में शीर्ष पर है। प्रियंका गांधी ने अपने एक ट्वीट में कहा, ‘अगर हम देश में हत्याओं के आंकड़ों को देखें तो उत्तर प्रदेश पिछले तीन सालों से इस सूची में सबसे ऊपर है।

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश का मोस्ट वांटेड क्रिमिनल और कानपुर एनकाउंटर का आरोपी विकास दुबे पुलिस की गिरफ्त में आ गया है। लंबे समय तक फरार रहने के बाद आखिरकार उसे मध्य प्रदेश के उज्जैन से गिरफ्तार किया गया है। कानपुर एनकाउंटर में 8 पुलिसकर्मियों के शहीद होने के बाद से यूपी में कानून-व्यवस्था को लेकर योगी सरकार सवालों के घेरे में है। उत्तर प्रदेश में बढ़ रहे अपराध को लेकर अब कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर हमला बोला है।

कांग्रेस पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी ने मंगलवार को उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार को राज्य की कानून व्यवस्था की स्थिति के बारे में अवगत कराया। कांग्रेस नेता ने कहा कि वर्तमान में राज्य देश की अपराध और हत्या की सूची में शीर्ष पर है। प्रियंका गांधी ने अपने एक ट्वीट में कहा, ‘अगर हम देश में हत्याओं के आंकड़ों को देखें तो उत्तर प्रदेश पिछले तीन सालों से इस सूची में सबसे ऊपर है। राज्य में प्रतिदिन हत्या की बारह घटनाएं होती हैं। 2016-2018 के बीच में बच्चों पर होने वाले अपराध यूपी में 24% बढ़ गए। यूपी के गृह विभाग और सीएम ने इन आंकड़ों पर पर्दा डालने के अलावा किया ही क्या है?’

प्रियंका गांधी ने अपने ट्विटर हैंडल पर देश में अपराध के आंकड़े को दिखाता एक ग्राफ भी शेयर किया है जिसमें लाल रंग की लकीर उत्तर प्रदेश को दर्शाती है। इस ग्राफ के साथ कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी ने कैप्शन में लिखा, ‘पूरे देश के कुल अवैध हथियारों के मामले में 56% मामले यूपी में दर्ज हैं। 2016-2018 के मध्य यूपी में साइबर अपराधों के मामले में 138% की वृद्धि हुई। यूपी सरकार इन आंकड़ों को संज्ञान में लेकर एक्शन लेने की बजाय इनकी बाजीगरी करने का काम कर रही है। अपराध कम कैसे होगा?’

बता दें कि कानपुर में विकास दुबे को गिरफ्तार करने गई पुलिस के ऊपर हुए हमले में उत्तर प्रदेश के 8 पुलिसकर्मी मारे गए। इस बीच उत्तर प्रदेश में कानून-व्यवस्था की विफलता के खिलाफ सैकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने एक विरोध मार्च निकाला। मार्च मुख्य रूप से कांग्रेस शहर अध्यक्ष देवेंद्र कुमार चिल्लू द्वारा आयोजित किया गया था। चिल्लू ने मीडिया को बताया कि यूपी पुलिस में बहुत सारे अपराधियों के साथ घनिष्ठ संबंध हैं। अगर राज्य की कानून व्यवस्था में सुधार नहीं हुआ तो कांग्रेस पार्टी पूरे राज्य में इस तरह के मार्च निकालेगी।

समाजवादी पार्टी के मुखिया अखिलेश यादव ने 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर फरार होने वाले विकास दुबे की गिरफ्तारी योगी सरकार से यह सवाल किया है कि उसने सरेंडर किया है या पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया है। ट्वीट करते हुए अखिलेश यादव ने लिखा कि ख़बर आ रही है कि ‘कानपुर-काण्ड’ का मुख्य अपराधी पुलिस की हिरासत में है। अगर ये सच है तो सरकार साफ़ करे कि ये आत्मसमर्पण है या गिरफ़्तारी। साथ ही उसके मोबाइल की सीडीआर सार्वजनिक करे जिससे सच्ची मिलीभगत का भंडाफोड़ हो सके।