कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने योगी को लिखे पत्र में कहा कि मैं डॉक्टर कफील खान का मामला आपके संज्ञान में लाना चाहती हूं। वह अब तक लगभग 450 दिन से ज्यादा जेल में गुजार चुके हैं। कफील ने कठिन परिस्थितियों में निःस्वार्थ भाव से लोगों की सेवा की है।

लखनऊ : कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने गुरुवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से आग्रह किया कि वह कथित तौर पर भड़काऊ भाषण देने के लिए गिरफ्तार डॉक्टर कफील खान को न्याय दिलवाने का प्रयास करें।

उन्होंने योगी को लिखे पत्र में कहा कि मैं डॉक्टर कफील खान का मामला आपके संज्ञान में लाना चाहती हूं। वह अब तक लगभग 450 दिन से ज्यादा जेल में गुजार चुके हैं। कफील ने कठिन परिस्थितियों में निःस्वार्थ भाव से लोगों की सेवा की है।

कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि आप अपनी संवेदनशीलता का परिचय देते हुए डॉ. कफील को न्याय दिलवाने का पूरा प्रयास करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने गुरु गोरखनाथ के एक कथन का हवाला देते हुए लिखा मन में रहिणां, भेद न कहिणां, बोलिबा अमृत वाणी, अगिला अगनी होईबा, हे अवधू तौ आपण होईबा पाणीं।

न पंक्तियों का भावार्थ है कि किसी से भेद न करो, मीठी वाणी बोलो, यदि सामने वाला आग बनकर जला रहा है तो हे योगी तुम पानी बनकर उसे शांत करो। गौरतलब है कि कुछ महीने पहले संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ कथित तौर पर भड़काऊ भाषण देने के सिलसिले में कफील खान को गिरफ्तार किया गया था। फिलहाल वह मथुरा जिला कारागार में बंद हैं।