जो शख्स इस समय जो देश चला रहा है वह हिंसा में विश्वास करता है – राहुल गांधी

केरल में अपनी लोकसभा सीट वायनाड में एक सभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस के नेता राहुल गांधी ने कहा है कि दूसरे देश पूछ रहे हैं कि भारत अपने बेटियों और बहनों की परवाह क्यों नहीं कर पा रहा है। उत्तर प्रदेश में बीजेपी का एक विधायक रेप का आरोपी है लेकिन प्रधानमंत्री एक भी शब्द बोलने को राजी नही हैं।

राहुल गांधी ने कहा भारत को अब ‘रेप की राजधानी’ के तौर पर जाना जाता है। इससे पहले राहुल गांधी ने कहा, आपने देखा होगा कि देश में हिंसा, महिलाओं के खिलाफ अत्याचार बढ़ा और कानूनराज का खत्म हो गया है। हर दिन हम पढ़ते हैं कि महिलाओं के खिलाफ रेप, छेड़खानी हो रही है।

इसके बाद राहुल गांधी ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि अल्पसंख्यकों के खिलाफ हिंसा और नफरत फैलाई जा रही है। दलितों के खिलाफ हिंसा और अत्याचार बढ़ गया है। आदिवासियों के खिलाफ अत्याचार और उनकी जमीनें छीनी जा रही हैं।

राहुल ने कहा कि यह सब कुछ अचानक इसलिए बढ़ गया है क्योंकि जो शख्स इस समय देश चला रहा है वह हिंसा और निरंकुश शासन में विश्वास में करता है।

वहीं उन्नाव रेप कांड मामले में प्रियंका गांधी ने भी बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है, उन्होंने ट्वीट में कहा, ‘ ‘पीड़िता के पूरे परिवार को पिछले एक साल से लगातार परेशान किया जा रहा था। मुझे सुनने को मिला है कि दोषियों के भाजपा से कनेक्शन हैं। इसलिए वे अभी तक बचे हुए थे। राज्य में अपराधियों के बीच कोई डर नहीं है। मुख्यमंत्री कह रहे हैं कि राज्य में अपराधियों के लिए कोई जगह नहीं है, लेकिन उन्होंने राज्य को क्या बना दिया। मुझे लगता है कि यहां महिलाओं के लिए कोई जगह नहीं है।’आखिर इसका जिम्मेदार कौन है? कोई तो जिम्मेदारी लेगा? सरकार किसके साथ खड़ी है? मुख्यमंत्री किसके साथ खड़े हैं? तंत्र किसके साथ खड़ा है? उप्र में लड़कियों और महिलाओं के लिए कोई जगह है? ये इंतिहा हो रही है जुल्म का’

प्रियंका ने उन्नाव पहुंचकर पीड़िता के परिजनों से भी मुलाकात की है। उन्होंने कहा, ‘पीड़िता के पूरे परिवार को पिछले एक साल से लगातार परेशान किया जा रहा था। मुझे सुनने को मिला है कि दोषियों के भाजपा से कनेक्शन हैं। इसलिए वे अभी तक बचे हुए थे। राज्य में अपराधियों के बीच कोई डर नहीं है। मुख्यमंत्री कह रहे हैं कि राज्य में अपराधियों के लिए कोई जगह नहीं है, लेकिन उन्होंने राज्य को क्या बना दिया। मुझे लगता है कि यहां महिलाओं के लिए कोई जगह नहीं है।’