Home > State > Delhi > रेल बजट : नई ट्रेन की घोषणा नहीं,किराया भी नहीं बढ़ेगा

रेल बजट : नई ट्रेन की घोषणा नहीं,किराया भी नहीं बढ़ेगा

Rail Budget 2015 No New Trains Announcedनई दिल्ली- रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने मोदी सरकार के पहले पूर्ण रेल बजट में भविष्य की नींव रखने की कोशिश करते हुए कोई लोकलुभावन घोषणा नहीं की गई है। यात्री किराये में कोई बढ़ोतरी नहीं की गई है, लेकिन यात्रियों की सुरक्षा और सुविधाओं पर ज्यादा जोर दिया गया है। लंबे समय बाद ऐसा हुआ है कि बजट में किसी नई ट्रेन की घोषणा नहीं की गई है। रेल मंत्री ने अपने बजटीय भाषण में कहा कि नई ट्रेनों की घोषणा समीक्ष रिपोर्ट के बाद की जाएगी, जो संसद के इसी सत्र में आ जाएगी।

उन्होंने कहा कि दलालों को रोकने के लिए रेल टिकट अब यात्रा तिथि से 120 दिन पहले बुक किए जा सकेंगे, अभी यह समय सीमा 60 दिन है। बिना रिजर्वेशन वाले टिकट कटवाने के लिए ‘ऑपरेशन 5 मिनट’ शुरू किया जा सकेगा, जिससे लंबी लाइनों से यात्रियों को मुक्ति मिल पाएगी। इसके अलावा मोबाइल ऐप से जनरल टिकट भी कटाए जा सकेंगे और आईआरसीटीसी की साइट हिन्दी और अंग्रेजी के अलावा दूसरी क्षेत्रीय भाषाओं में भी शुरू होंगी। लोकल ट्रेनों में महिला डिब्बों में सीसीटीवी लगाए जाएंगे और जनरल डिब्बों में भी मोबाइल चार्जर लगेंगे।

रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने यात्रियों की जरूरत और रेलवे के हितों में संतुलन बिठाने का वादा किया, ताकि यह गुणवत्ता, सुरक्षा और पहुंच के लिहाज से विश्व स्तर का उद्यम बन सके। रेल मंत्री ने कहा कि पिछले कुछ दशकों में रेल सुविधाओं में संतोषजनक सुधार नहीं हुआ है, जिसकी वजह उचित निवेश न होना है, जिसने क्षमता को प्रभावित किया है, मनोबल कम हुआ है। उन्होंने कहा कि वित्तीय कमी के कारण सुरक्षा, गुणवत्तापूर्ण सेवा, उच्च मानक और कुशलता प्रभावित हुई है। प्रभु ने कहा कि इसे समाप्त करना होगा। हमें भारतीय रेल को सुरक्षा और आधारभूत संरचना के लिहाज से प्रमुख संस्था बनाना होगा।

रेल बजट 2015-16 को पेश करते हुए सुरेश प्रभु ने जनता को कई सौगातें दीं। बजट में रेल मंत्री का पूरा जोर आम जनता को ज्यादा से ज्यादा सुविधाएं देने पर रहा। रेल मंत्री ने यात्रियों को रिजर्वेशन कराने के लिए ज्यादा समय मुहैया कराया है। अब आप रेलवे रिजर्वेशन को 120 दिन पहले करा सकते हैं। रेलवे रिजर्वेशन के लिए चार महीने का समय मिलने से यात्री अपनी यात्राओं को लेकर खास योजना बना सकते हैं। इससे रिजर्वेशन काउंटरों में भीड़ भी कम होने की संभावना होगी।

इस्तेमाल करो और फेंको श्रेणी के बिस्तर सभी स्टेशनों पर भुगतान के आधार पर उपलब्ध कराए जाएंगे। सुरक्षा से जुड़ीं शिकायतों के लिए टोल फ्री नंबर 182 शुरू किया जाएगा। इसके अलावा रेलवे हेल्पलाइन नंबर 138 24 घंटे चालू रहेगा।
गाड़ियों के आने-जाने की सूचना एसएमएस अलर्ट से देने की तैयारी। भीड़ वाली गाड़ियों में 24 की जगह 26 डब्बे लगाने सहित अनारक्षित डिब्बों की संख्या बढ़ाने की भी योजना है। वाई-फाई सुविधा अब सभी बी कैटिगरी के रेलवे स्टेशनों पर भी उपलब्ध कराई जाएगी।

देश के तीन प्रमुख महानगरों दिल्‍ली, मुंबई और कोलकाता के बीच की यात्रा को आसान बनाने के लिए उन्होंने हाईस्पीड कॉरिडोर बनाने की घोषणा की है। दिल्‍ली-कोलकाता और दिल्‍ली-मुंबई के बीच की नौ ट्रेनों की स्पीड बढ़ाकर 160 से 200 किलोमीटर तक की जाएगी। माना जा रहा है कि नई व्यवस्‍था से दोनों रास्तों पर एक रात में सफर करना संभव हो जाएगा। उन्होंने कहा कि अन्य रूटों पर हाई स्पीड ट्रेनों की संभावानाओं का अध्ययन करने के लिए अध्ययन किया जा रहा है। मुंबई-अहमदाबाद के बीच बुलेट ट्रेन चलाने पर व्यवहारिकता अध्ययन रिपोर्ट इस साल मध्य तक आने की उम्मीद है।

सभी नवनिर्मित कोच ब्रेल युक्त होंगे, जिससे नेत्रहीन लोगों को सुरक्षा होगी। अब जरूरतमंद लोग वीलचेयर के लिए ऑनलाइन बुकिंग कर सकेंगे। रेलगाड़ियों के 17,000 से अधिक शौचालय बदले गए, अन्य 17,000 बदले जाने का लक्ष्य रखा गया है। रेलवे कागज रहित टिकट प्रणाली को विकसित करेगा और स्टेशन सफाई के लिए नया विभाग बनेगा। स्टेशनों के शौचालयों में सुधार की जरूरत बताते हुए रेल मंत्री ने 650 अतिरिक्त शौचालय बनाने का प्रस्ताव रखा है। इस बार बजट में मानवरहित रेलवे क्रॉसिंग पर ट्रेन के आने से पहले टेक्नॉलजी के जरिए ऑडिय चेतावनी शुरू करने की भी बात की गई है।

Facebook Comments
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com