Rain havoc in Gujarat, stagnating Kedarnath tripनई दिल्ली – गुजरात में पिछले कई घंटों से हो रही बारिश ने तबाही मचा दी है। बारिश की वजह से अब तक 51 लोगों की मौत हो चुकी है। अमरेली में ही 36 शव बरामद किए गए हैं। वहीं अहमदाबाद में चक्रवात आने की आशंका है, जिसके चलते स्कूल और कॉलेज बंद कर दिए गए हैं। वहीं गुजरात के कई जिलों में बाढ़ जैसे हालात हो गए हैं।

भारी बारिश की वजह से गुजरात के बगसरा में 50 से ज्यादा मकान गिर गए हैं। कई घरों और दुकानों में पानी भरा हुआ है। सड़कों पर पानी भर जाने की वजह से बगसरा के बाकी इलाकों से संपर्क पूरी तरह टूट गया है। एहतियातन बिजली सप्लाई भी बंद कर दी गई है। वहीं सेना, एनडीआरएफ की टीमें राहत और बचाव कार्य में जुट गई हैं।

उत्‍तराखंड में मौसम विभाग ने 48 घंटों का अलर्ट जारी किया हुआ है। राज्‍य के चमोली एरूद्रप्रयाग, पौड़ी, जोशीमठ, बद्रीनाथ, हेमकुंड साहिब में बुधवार देर रात से हो रही लगातार तेज बारिश के चलते लोगों में डर है। बारिश के कारण केदारनाथ यात्रा भी सोनप्रयाग में ही रोक दी गई है।

उधर, जम्मू कश्मीर के दक्षिणी हिस्से के अनंतनाग और पुलवामा जिलों में बाढ़ जैसे हालात पैदा हो गए हैं। इसके चलते बुधवार रात अलर्ट जारी कर दिया गया है। अनंतनाग में झेलम नदी खतरे के निशान के ऊपर पहुंच चुकी है।

बुधवार को सिंचाई एवं बाढ़ नियंत्रण विभाग के मुख्य इंजीनियर जावेद जफ्फार ने बताया अनंतनाग और पुलवामा जिलों में बाढ़ के लिए अलर्ट घोषित किया गया है क्योंकि संगम में झेलम नदी का पानी खतरे के निशान से केवल दो इंच नीचे हैं। इन जिलों में बाढ़ की आशंका वाले इलाकों में रह रहे लोगों से सुरक्षित इलाकों में जाने के लिए कहा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here