Home > India News > राजनीतिक शिकार बने सीआरपीएफ जवान – राज ठाकरे

राजनीतिक शिकार बने सीआरपीएफ जवान – राज ठाकरे

कोल्हापुर : पुलमावा आतंकी हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ के जवानों को ‘राजनीतिक शिकार’ करार देते हुए मनसे प्रमुख राज ठाकरे ने रविवार को दावा किया कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए)अजीत डोभाल से पूछताछ करने पर सच्चाई सामने आ जाएगी।

ठाकरे ने महाराष्ट्र के कोल्हापुर जिले में कहा, ‘यदि एनएसए डोभाल से पूछताछ की जाती है तो पुलवामा आतंकी हमले की सच्चाई सामने आ जाएगी।’

उन्होंने कांग्रेस के आरोपों से सहमति जताते हुए कहा, ‘पुलवामा हमले के वक्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कॉरबेट नेशनल पार्क में एक फिल्म की शूटिंग करने में व्यस्त थे। आतंकी हमले की खबरें आने के बाद भी उनकी शूटिंग जारी रही।’

मनसे प्रमुख ने कहा कि पुलवामा हमले में शहीद हुए 40 जवान ‘राजनीतिक शिकार’ बने और हर सरकार ने इस तरह की चीजें गढ़ीं, लेकिन मोदी के शासन में यह अक्सर हो रहा है।

वहीं, प्रदेश भाजपा प्रवक्ता माधव भंडारी ने कहा, ‘राज ठाकरे अपने पूरे करियर में नकल उतारते रहे हैं। अब वह डोभाल के खिलाफ आरोप लगा कर राहुल गांधी का अनुकरण रहे हैं।’

बता दें, जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकियों ने सीआरपीएफ के काफिले पर हमला कर दिया था। हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे और करीब पांच जवान जख्मी हो गए थे। इसके बाद कांग्रेस ने पीएम मोदी पर निशाना साधा था।

पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कांग्रेस ने कहा था कि पुलवामा हमले की जानकारी मिलने के बाद भी पीएम मोदी नेशनल कॉर्बेट पार्क में फिल्म की शूटिंग कर रहे थे।

हालांकि, बाद में सरकार के सूत्रों के हवाले से खबर आई थी कि पीएम मोदी हमले की जानकारी देरी से मिली थी।

Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com