Home > India > नर्मदा के जल से बुझेगी थार के मरुस्थल की प्यास

नर्मदा के जल से बुझेगी थार के मरुस्थल की प्यास

Narmada water extinguished the thirst of the Thar Desertबाड़मेर- राजस्थान के जन हितेशी सरकार के आहात को राहत पहुचने के दावे सरहद के अंतिम छोर के गावो में हकीकत की धरा पर उतरते नजर आ रहे है बीते एक साल में जालोर के सीलु से रवाना हुआ नर्मदा का जल जल्द ही पश्चिम के सिह द्वार मुनाबाव पहुचने वाला है। नर्मदा का नीर एक साथ तरीबन चार लाख लोगो को खारे पानी और पेयजल संकट से हमेशा हमेशा मुक्त कर देगा। सरकर की बड़ी योजना की सफलता के बाद लोगो के चेहरे पर सकून की लकीरे साफ़ नजर आ रही है।

रेतीले राजस्थान का बाड़मेर बरसो से सूखे और पेयजल संकट के चलते हमेशा खबरों की सुर्ख़ियो मे रहा है यही इलाका एक बार फिर सुर्ख़ियो मे है लेकिन ताजा चर्चा सूखे और पेयजल संकट से पर नर्मदा के नीर के सरहद के अंतिम गाव तक पहुचने की बड़ी कवायद को लेकर है। वसुंधरा राजे के पहले मुख्यमंत्री कार्यकाल के दौरान जालोर के सीलू से राजस्थान में प्रवेश करने के बाद नर्मदा का नीर बाड़मेर के अरनियाली गाव के बाद बड़ी पाइप लाइन से सफर तय कर रहा है और बीते एक साल में इस काम ने तीव्र गति से खुद को बढ़ाया है।

सवेदनशील सरकार, कर्मठ जनप्रतिनिधियो और आला अधिकारियो की प्रभावी मोनेटरिंग के चलते नर्मदा का नीर अगली गर्मियों से पहले सरहद की धरा पर पेयजल संकट से हमेशा हमेशा से छुटकारा दिला देगा। नर्मदा नहर आधारित पेयजल प्रोजेक्ट एक साथ बाड़मेर के शिव के 110 और रामसर के 95गावो के लोगो तक पेयजल पहुँचाने वाली महत्वकांक्षी परियोजना है। पांच सो तेरह करोड़ की इस महत्वपूर्ण परियोजना मे नर्मदा केनाल के जरिये आने वाले पानी को पूरी तरह से शोधित करने के बाद लोगो तक पहुचाया जायेगा। इस महती परियोजना मे साफ़ पानी संग्रहण के लिए 16 मुख्य सग्रहण सी डब्लू आर ,1 मुख्य संग्रहण स्थल ,2 पम्पिंग स्टेशन और शिव और रामसर मे 86 अलग अलग स्थानो पर एलिवेट सर्विस रिजर्व वायर के निर्माण का काम युद्ध स्तर पर जारी है। काम की गति से साफ़ लग रहा है की इस बार की गर्मी में सरहद पर पानी को लेकर हाहाकार नही मचेगा।

गंभीर और सकारात्मक प्रयास
– नर्मदा नहर आधारित पेयजल प्रोजेक्ट जल्द से जल्द पूरा हो इसके लिए गंभीरता से प्रयाश किये जा रहे है। जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अधिकारियो द्वारा काम की प्रभावी मोनेटरिंग की जा रही है। इस परियोजना के पूरा होने के बाद सरहदी लोगो को राहत पहुचने वाली बड़ी परियोजना बन जाएगी।इस परियोजना से जनता के साथ साथ सेना को भी बड़ी राहत मिलेगी

– नेमाराम परिहार 

अधीक्षण अभियंता व्रत , जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग बाड़मेर

– सरहद के गावो तक मीठा पानी पहुचने के बाद यहा के लोगो के बीच जल जनजागरण के आयोजनो को लेकर रुपरेखा तैयार की जा रही है। विभिन्न माध्यमो के जरिये जनता को नर्मदा के पानी के पुरे सफर की जानकारी दी जाएगी। जनता को सरकार के प्रयासों और विभाग के कार्यो के बारे मे भी बताया जायेगा।
अशोक सिंह राजपुरोहित
जिला आईईसी समन्वयक,सीसीडीयू बाड़मेर

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com