3 मर्डर 3 मंगलवार और “स्टोन किलर“ - Tez News
Home > Crime > 3 मर्डर 3 मंगलवार और “स्टोन किलर“

3 मर्डर 3 मंगलवार और “स्टोन किलर“

murderराजकोट- आखिर जामनगर से पकड़ा गया दरिंदा स्टोन किलर हितेश दलपत रामावत, 50 दीन मे 3 लोगो को पत्थर मारकर मार डाला था। और मृतक के मोबाइल फोन से मृतक के घरवालो को फोन करके कहता है, की मैंने आपके भाई को और पिता को टपका डाला है।

3 लोगो का हत्यारा हितेश मर्डर मंगलवार को ही करता था। मर्डर करने के बाद हितेश जामनगर चला जाता, पुलिस को हितेश के पास से 22 मोबाइल बरामद हुए, राजकोट समेत पूरे सौराष्ट्र मे हाहाकार मचा दिया इस स्टोन किलर ने।

हितेश स्टोन किलर ने सागर मेवाड़ा का पहला मर्डर 20 अप्रैल के दिन राजकोट के भक्तिनगर स्टेशन प्लॉट मे किया, और दूसरा मर्डर 23 मई को मुंजका गांव के पास ऑटो रिक्शा ड्राइवर प्रवीण का किया, और तीसरा मर्डर 2 जून को वल्लभ रंगानी का किया, पुलिस ने जांच मे पता चला कि स्टोन किलर गे है , क्यू की 3 मृतको के पेंट पर वीर्य मिला था।

राजकोट पुलिस कमिश्नर अनुपसिंह गेहलोत ने बताया की स्टोन किलर को पकड़ने 1200 से भी ज्यादा पुलिसकर्मीयो की टीम बनाई गई, और स्टोन किलर 6 महीनो से जामनगर के बेडी मे रूम रेंट किराए पर लेकर रहा रहा था। घर से निकाला गया स्टोन किलर राजकोट के मवडी क्षेत्र मे रिक्शा चलाता और जिससे वाकिफ था कि मवडी क्षेत्र से पुलिस ने इस खतरनाक स्टोन किलर को पकड़ने के लिए 2 लाख रुपये का इनाम भी रखा।

प्राप्त CCTV विडिओ फुटेज और इस स्टोन किलर के हमले मे बचने वाले शख्शो की मदद द्वारा बनाए गए स्केच को लोगो के सामने रखा गया जिससे स्टोन किलर बेरहम था। पुलिस ने 18 शकमंदों को शॉर्ट लिस्ट किया था मंगलवार ही क्यू चुनता था स्टोन किलर हितेश ?

किलर हितेश पहला मर्डर करने मंगलवार की रात जामनगर से निकला तब से वो इस दिन को शुभ मानने लगा, उसके बाद 2 हत्या के लिए भी वो जामनगर से मंगलवार की रात को ही निकलता और हत्या करने के बाद वो वापस जामनगर चला जाता था।

पुलिस बनी गे
इन हत्याओ के पीछे समलैंगिक संबंध का सामने आने पर पुलिस ने राजकोट मे गे सोसायटी मिलन जगह की लिस्ट बनाई और पुलिसकर्मी खुद रात मे ऐसी जगहो पर गे बनकर जाने लगे जहाँ स्टोन किलर की जानकारी एकत्रीत करने लगे पुलिस ने हितेश रामावत को जामनगर से रात को कड़ी मेहनत से पकड़ा।

रिपोर्ट:- @तुलसीभाई पटेल

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com