Home > Crime > ब्रह्मकुमारी आश्रम में संचालक ने युवती से किया दुष्कर्म

ब्रह्मकुमारी आश्रम में संचालक ने युवती से किया दुष्कर्म

आगरा : ब्रह्मकुमारी आश्रम में एक युवती के साथ दुष्कर्म का मामला सामने आया है। दुष्कर्म का आरोप आश्रम संचालक पर लगा है। पुलिस ने संचालक को गिरफ्तार कर लिया है।

मामला आगरा के थाना सिकंदरा के रुनकता क्षेत्र का है। यहां ब्रह्मकुमारी आश्रम है। आरोप है कि आश्रम संचालक भगवान सिंह ने युवती के साथ दुष्कर्म किया। वहीं आश्रम में रह रहीं अन्य युवतियों के साथ भी भगवान सिंह गलत कार्य करता था।

मंगलवार को पीड़ित युवती किसी तरह से आश्रम से निकली और पुलिस के पास पहुंची। थाना सिकंदरा पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

रुनकता के ओम शांति आश्रम के संचालक पर एक सेविका ने दुष्कर्म का आरोप लगाया है। आश्रम में रहने वाली 25 वर्षीय सेविका की शिकायत पर गांव वालों ने आरोपित को दबोच लिया। जमकर धुनाई के बाद आरोपी संचालक को पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने आरोपित के खिलाफ दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज किया है।

रेणुका धाम स्थित प्राचीन टीले वाले हनुमान बाबा मंदिर के पास करीब 10 साल से ओम शांति आश्रम संचालित है। आश्रम का संचालन भगवान सिंह निवासी दिगरौता, कागारौल करता है। चार साल पहले अलीगढ़ निवासी युवती आश्रम में आई थी। आश्रम में वह सेविका के रूप में रहने लगी। मंगलवार को युवती ने गांव वालों से अपने साथ हो रही दरिंदगी बयां की। बताया कि संचालक भगवान सिंह उसके साथ एक साल से दुष्कर्म कर रहा है। विरोध करने पर मारपीट करता है। दो दिन पहले भी दुष्कर्म किया। यह सुन ग्रामीण सन्न रह गए। लोगों ने आरोपित को आश्रम में ही दबोच लिया। उसकी जमकर धुनाई की। इसके बाद रुनकता चौकी पुलिस को सूचना दी। मामला गंभीर होने पर थाना सिकंदरा पुलिस समेत अधिकारी पहुंच गए। लोगों ने आरोपित को पुलिस के हवाले कर दिया। सेविका को मेडिकल के लिए भेजा गया है।

पांच युवतियां छोड़ चुकी हैं आश्रम
सेविका ने बताया कि आरोपित आश्रम में रहने वाली हर युवती और महिला को हवस का शिकार बनाता है। युवतियों को ईश्वर भक्ति और साधना के नाम पर फंसाता है। उन्हें आश्रम में लाता है। इसके बाद दुष्कर्म करता है। चार माह पहले पांच युवतियों ने संचालक से तंग आकर आश्रम छोड़ा था। आरोपित ने उनके साथ दुष्कर्म किया था।

अन्य महिलाओं पर भी लगाया आरोप
पीड़िता ने आश्रम में रहने वाली अन्य महिलाओं पर भी आरोप लगाया है। आश्रम में दो महिलाएं और भी रहती हैं। वह आरोपित के साथ मिली हुई हैं। एक साल पहले भी पीड़िता ने दुष्कर्म की बात कही तो महिलाओं ने डरा धमका कर शांत करा दिया था।

ईश्वर की साधना के लिए छोड़ा था परिवार
पीड़िता मूल रूप से अलीगढ़ की रहने वाली है। उसने बताया कि चार साल पहले उसका भक्ति और साधना की ओर झुकाव हुआ। उसने अपना परिवार छोड़ दिया। कई आश्रमों में रहकर उसने साधना की। वह ओम शांति आश्रम के संचालक भगवान सिंह के चंगुल में फंस गई। भगवान सिंह उसे रुनकता में अपने आश्रम में ले आया।

धार्मिक संस्था के नाम का दुरुपयोग
आरोपी भगवान सिंह बड़ी धार्मिक संस्था के नाम का दुरुपयोग करके आश्रम चला रहा था। संस्था की जोन प्रमुख ने बताया कि उनकी संस्था का इस आश्रम से कोई लेनादेना नहीं है। संस्था के मुख्यालय में हर आश्रम का रजिस्ट्रेशन होता है। इस आश्रम का रजिस्ट्रेशन नहीं है।

पति-पत्नी को बना देता है भाई-बहन
रेणुका धाम में 10 साल से चल रहे ओम शांति आश्रम का संचालक खुद को महात्मा कहता है। आश्रम में आने वाली हर महिला और युवती को अपनी बहन कहता है। आश्रम में जो भी पति और पत्नी आते थे, उन्हें बहन-भाई बना देता था। इस वजह से कई घरों में रार हो गई। कई पति और पत्नी अलग हो गए। आरोपी कहता था कि धरती फटने वाली है। प्रभु की शरण ही अंतिम है। जो प्रभु की शरण में आएगा, वही जीवित रहेगा। प्रभु को पाना है तो आश्रम में रहो। घर परिवार को छोड़कर प्रभु की अराधना इंसान के जीने का लक्ष्य रहा है। इसी तरह की बातों में फंसा कर महिलाओं को आश्रम से जोड़ रखा है।

आश्रम को खाली कराने की मांग
दुष्कर्म का मामला सामने आने पर लोगों में आक्रोश है। उनकी मांग है कि आश्रम खाली कराया जाए। रेणुका धाम धार्मिक स्थल है। सैकड़ों भक्त यहां आते हैं। ऐसे स्थान पर दुष्कर्मियों के लिए कोई जगह नहीं है।

पीड़िता की तहरीर पर आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार किया गया है। उसे जेल भेजा गया है। युवती का मेडिकल कराया गया है। विवेचना के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।
– प्रशांत वर्मा, एसपी सिटी

Scroll To Top
Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com