Home > India > मुस्लिम पर्सनल लॉ में दखल का विरोध

मुस्लिम पर्सनल लॉ में दखल का विरोध

resist-interfere-in-muslim-personal-lawमंडला – तीन तलाक के मुद्दे पर पूरे देश में बवाल मचा हुआ है। केंद्र सरकार मुस्लिम पर्सनल लॉ के मुताबिक दिए जाने वाली तीन तलाक पर तब्दीली करना चाह रही है। मुस्लिम समुदाय इसे मुस्लिम पर्सनल लॉ और शरीयत पर हमला बता रहा है। केंद्र सरकार के इसी फैसले के विरोध में मंडला में भी शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन कर अतिरिक्त जिला दण्डाधिकारी को ज्ञापन सौपा गया।

मंडला में जुमे की नमाज़ के बाद मुस्लिम धर्मावलंबी रब्बानी चौक में एकत्र होकर रैली निकली। यह मौन रैली नगर भ्रमण करते हुए कलेक्ट्रेट पहुंची और राष्ट्रपति व प्रधानमंत्री के नाम जिला प्रशासन को ज्ञापन सौपा। नई मस्जिद कोष्टा मोहल्ला के इमाम हसीमुद्दीन कादरी ने बताया कि संविधान द्वारा विभिन्न धर्म और समुदाय को कुछ विशेषाधिकार दिए गए है।

मुस्लिम्स इसी विशेषाधिकार के तहत मुस्लिम पर्सनल लॉ का पालन करते है। शासन, मुस्लिम पर्सनल लॉ के तीन तलाक पर तब्दीली करना चाहती है। यह तब्दील क़ुरान और हदीस के ख़िलाफ़ है, इसलिए हम इसका विरोध कर रहे है। मुस्लिम शरीयत में किसी भी तरह की दखलंदाजी बर्दास्त नहीं कर सकते। शासन यदि इस पर अपने रुख में तबदीली नहीं करता तो इससे समुदाय में गलत सन्देश जाएगा। समुदाय ने शासन – प्रशासन और विशेषकर प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी से अपील की है कि जिस तरह से दूसरे पर्सनल लॉ को कायम रखा गया है उसी तरह मुस्लिम पर्सनल लॉ को भी कायम रखा जाये।

@सैयद जावेद अली




Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com