उत्तराखंड में बारिश से उत्तर प्रदेश में बाढ़ का खतरा - Tez News
Home > India > उत्तराखंड में बारिश से उत्तर प्रदेश में बाढ़ का खतरा

उत्तराखंड में बारिश से उत्तर प्रदेश में बाढ़ का खतरा

uttrakhand landslideलखनऊ [ TNN ] उत्तराखंड के पहाड़ी क्षेत्रों में हो रही तेज बारिश का असर उत्तर प्रदेश में भी देखा जा रहा है, जहां के मैदानी इलाकों में बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। स्थिति यह है कि प्रदेश में कई नदियां इस समय उफान पर हैं। इस बारे में अधिकारियों का कहना है कि नदियों के बढ़ते जलस्तर पर लगातार नजर रखी जा रही है।

गंगा, यमुना, घाघरा, शारदा सहित अन्य नदियों का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। इसके चलते खतरा बढ़ने की आशंका है। इसके अलावा, पूर्वांचल में भी गंगा, घाघरा सहित कई नदियां उफान पर हैं।

एक ओर जहां मुरादाबाद मंडल में रामगंगा खतरे के निशान तक पहुंच चुकी है, वहीं कोसी, ढहला, गागन नदियों का जलस्तर भी लगातार बढ़ रहा है। नदियों का पानी कई गावों तक भी पहुंच गया है। शारदा नदी का पानी पीलीभीत के कई गावों में पहुंच गया है।

इधर, शाहजहांपुर में भी गंगा व रामगंगा सहित सभी सहायक नदियों का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है और पलिया-लखीमपुर स्टेट हाइवे बाढ़ की चपेट में आ चुका है। बरेली में भी रामगंगा का जलस्तर बढ़ रहा है।

पूर्वांचल की बात करें तो घाघरा का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है, जिसके चलते बलिया में नदी की कटान तेज हो गई है। आजमगढ़ में भी घाघरा का जलस्तर उफान पर देखा जा रहा है और जलस्तर खतरे के निशान के करीब पहुंच गया है।

गंगा में भी नरौरा और हरिद्वार से लगातार पानी छोड़ा जा रहा है। इसे देखते हुए प्रशासन भी सतर्क हो गया है। बढ़ते जलस्तर से पश्चिमी उत्तर प्रदेश में गंगा के तटबंधों पर रिसाव का खतरा बढ़ गया है।

रामपुर के शाहबाद क्षेत्र में 50 से अधिक गांवों में पानी भर गया है। यह स्थिति रामगंगा में 160 क्यूसेक पानी छोड़े जाने के कारण बनी। सिंचाई एवं बाढ़ नियंत्रण विभाग के अधिकारियों ने बताया कि उत्तर प्रदेश में सभी नदियों के जलस्तर पर नजर रखी जा रही है और हालात अभी तक पूरी तरह से नियंत्रण में हैं।

 

 

Copyright @teznews.com. Designed by Lemosys.com