Girish-Karnadबेंगलुरू – टीपू सुल्तान की जयंती मानने के मुद्दे पर कर्नाटक में बवाल जारी है। विश्व हिंदू परिषद समेत अन्य संगठनों ने आज प्रदेश बंद का ऐलान किया है। कई स्थानों पर इसका असर दिखाई दे रहा है। हिंसा की आशंका के चलते सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए गए हैं।

इस बीच, ज्ञानपीठ अवार्ड से सम्‍मानित गिरीश कर्नाड ने कहा है कि जान से मारने की मिली धमकियों से वे चिंतित नहीं, लेकिन दुखी जरूर हैं। 18वीं सदी के शासक टीपू सुल्‍तान की प्रशंसा करते हुए कर्नाड ने बयान दिया था कि बेंगलूरू एयरपोर्ट का नामकरण टीपू पर किया जाना चाहिए। उनके इस बयान ने दक्षिणपंथियों को नाराज कर दिया है।

कर्नाड ने एक टीवी चैनल से चर्चा में कहा, बात केवल टीपू सुल्‍तान की नहीं है। दरअसल यह देश में बढ़ रही राजनीतिक बहस का उदाहरण मात्र है। सड़कों पर गुंडागर्दी का नेतृत्‍व लोग नहीं बल्कि राजनेताओं द्वारा किया जा रहा है। ऐसे लोग जिनके बारे में हम सोचते हैं कि इनमें हमसे ज्‍यादा विवेक है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here