मास्को : रुस के लोगों ने चमत्कार का एहसास किया जब एक यात्रियों से विमान को आपातकालीन स्थिति में मक्के के खेत में लैंड कराया गया।

गुरुवार को एक रुसी विमान में उड़ान के चंद मिनटों बाद ही कुछ पक्षी घुस गए।पक्षियों के घुसने के साथ विमान को मास्को के पास एक मक्के के खेत में उतारा गया।

इस विमान में 233 लोग सवार थे। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि 23 लोग घायल हुए हैं, जिनमें नौ बच्चे शामिल हैं। उन्होंने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि राहत की बात ये रही कि इस इमरजेंसी लैंडिग में किसी शख्स की जान नहीं गई।

उन्होंने कहा कि विमान के इंजन में पक्षियों के घुसते ही वह बंद हो गया था। जिसके बाद इसे पास के ही मक्के के खेत में सफलता पूर्वक उतारा गया।

इस घटना के बाद रुस की मीडिया में पायलट की जमकर तारीफ हो रही है। एक स्थानीय चैनल ने विमान के पायलट दमीर यूसुपोव को ‘हीरो’ और इस घटना को ‘चमत्कार’ करार करार दिया है।

उनके अनुसार दमीर एक हीरो हैं जिन्होंने 233 लोगों की जान बचाई। चैनल ने कहा कि दमीर ने बिना लैंडिंग गियर और एक असफल इंजन के साथ एक विमान को सफलतापूर्वक जमीन पर उतारा।

कुछ लोगों ने इस वाक्ये की तुलना यूएस में हुए उस घटनाक्रम से की है, जहां साल 2009 में यूएस एयरवेज के एक विमान को आपातकालीन स्थिति में हुडसन नदी में उतारा गया था।

विमान में सवार एक यात्री ने स्थानीय चैनल से बात करते हुए कहा कि प्लेट, टेक ऑफ के कुछ ही मिनटों बाद बुरी तरह से हिलने लगा था।

यात्री के अनुसार पांच सेकण्ड के भीतर ही विमान की दाहिने तरफ की लाइटें जलने लगीं और कुछ जलने की बदबू आने लगी।

जैसे ही विमान जमीन पर उतरा, सभी यात्री तेजी से भागने लगे। Ural एयरलाइंस का एयरबस A321 विमान 226 यात्रियों और सात चालक दल के सदस्यों को मास्को के ज़ुकोवस्की हवाई अड्डे से रूस-एनेक्सिया क्रीमिया के सिम्फ़ेरोपोल ले जा रहा था। तभी उसके इंजन में पक्षी फंस गए थे।
गुरुवार को एक रुसी विमान में उड़ान के चंद मिनटों बाद ही कुछ पक्षी घुस गए।पक्षियों के घुसने के साथ विमान को मास्को के पास एक मक्के के खेत में उतारा गया।

इस विमान में 233 लोग सवार थे। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि 23 लोग घायल हुए हैं, जिनमें नौ बच्चे शामिल हैं। उन्होंने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि राहत की बात ये रही कि इस इमरजेंसी लैंडिग में किसी शख्स की जान नहीं गई।

उन्होंने कहा कि विमान के इंजन में पक्षियों के घुसते ही वह बंद हो गया था। जिसके बाद इसे पास के ही मक्के के खेत में सफलता पूर्वक उतारा गया।

इस घटना के बाद रुस की मीडिया में पायलट की जमकर तारीफ हो रही है। एक स्थानीय चैनल ने विमान के पायलट दमीर यूसुपोव को ‘हीरो’ और इस घटना को ‘चमत्कार’ करार करार दिया है।

उनके अनुसार दमीर एक हीरो हैं जिन्होंने 233 लोगों की जान बचाई। चैनल ने कहा कि दमीर ने बिना लैंडिंग गियर और एक असफल इंजन के साथ एक विमान को सफलतापूर्वक जमीन पर उतारा।

कुछ लोगों ने इस वाक्ये की तुलना यूएस में हुए उस घटनाक्रम से की है, जहां साल 2009 में यूएस एयरवेज के एक विमान को आपातकालीन स्थिति में हुडसन नदी में उतारा गया था।

विमान में सवार एक यात्री ने स्थानीय चैनल से बात करते हुए कहा कि प्लेट, टेक ऑफ के कुछ ही मिनटों बाद बुरी तरह से हिलने लगा था।

यात्री के अनुसार पांच सेकण्ड के भीतर ही विमान की दाहिने तरफ की लाइटें जलने लगीं और कुछ जलने की बदबू आने लगी।

जैसे ही विमान जमीन पर उतरा, सभी यात्री तेजी से भागने लगे। Ural एयरलाइंस का एयरबस A321 विमान 226 यात्रियों और सात चालक दल के सदस्यों को मास्को के ज़ुकोवस्की हवाई अड्डे से रूस-एनेक्सिया क्रीमिया के सिम्फ़ेरोपोल ले जा रहा था। तभी उसके इंजन में पक्षी फंस गए थे।