भोपाल : पूर्व एटीएस चीफ हेमंत करकरे पर दिए गए विवादित बयान पर देश भर में उठे सियासी भूचाल अभी थमा भी नहीं था कि भोपाल लोकसभा सीट से बीजेपी की उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा ने फिर एक विवादित बयान दे डाला है। उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी दिग्विजय सिंह को महिषासुर बताया है।

दरअसल, भोपाल के बैरसिया में बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित करने पहुंची साध्वी प्रज्ञा ने अपने पड़ोस में बैठे हुए मौजूदा सांसद आलोक संजर को संबोधित करते हुए कहा, ‘भारतीय राजनीति में कोई भी इतना बड़ा त्याग नहीं करता कि अपनी सीट किसी और को दे दे। हमारे जीते हुए सांसद ने कहा दीदी आप की आवश्यकता है आपकी जय हो आप आइए इस महिषासुर का मर्दन करिए।’

उन्होंने आगे कहा, ‘जब देश में इसी प्रकार से कोई भ्रमित हो जाता है भ्रष्ट हो जाता है आनाचारी हो जाता है तो उसका विनाश करने स्वयं महिषासुर मर्दिनी को आना पड़ता है, और महिषासुर मर्दिनी आई है भगवा वेश पहनकर, इनको इनके शब्द में ही जवाब देना पड़ेगा। इस चुनाव में यह तय हो जाएगा यह भगवा आतंक होता है या नहीं, अगर इन लोगों ने इस तरह से भगवा को आतंक कहा है तो यह निश्चित है यह लोग भ्रष्ट हैं। यह अधर्मी है। यह भारतीय संस्कृति के विरुद्ध है। यह देश के विरुद्ध है।’

इससे पहले शुक्रवार को ही साध्वी प्रज्ञा ने अपने हेमंत करकरे पर दिए विवादित बयान से यूटर्न ले लिया था। उन्होंने कहा कि अगर मेरे बयान से किसी को ठेस पहुंची है तो मैं अपना बयान वापस लेती हूं।

वहीं साध्वी प्रज्ञा की पार्टी बीजेपी ने भी उनके बयान से किनारा कर लिया है। बीजेपी ने कहा है कि यह उनका (साध्वी प्रज्ञा) निजी बयान है।